दुनिया में केवल पिता ही एक ऐसा इंसान है जो चाहता है...अनमोल वचन-

ग्राम-मेढ़ारी, पोस्ट-करमडीहा, तहसील-वाड्रफनगर, जिला-बलरामपुर (छत्तीसगढ़) से सोनू कुमार नेटी माता पिता के संबंध में एक अनमोल वचन सुना रहे है|

दुनिया में केवल पिता ही एक ऐसा इंसान है जो चाहता है कि मेरे बच्चे मुझसे भी ज्यादा कामयाब हो| दो पल जिंदगी के दो नियम निकलो फूलों की तरह बिखरो खुशबु की तरह| किसी को प्रेम देना सबसे बड़ा उपहार है, किसी का प्रेम पाना सबसे बड़ा सम्मान| सफलता एक दिन में नहीं मिलती अगर ठान लो तो जरुर मिलती है| ये मनुष्य का दिल भी अपने किसी भी हुनर पर घमंड मत करना, क्योंकि पत्थर जब पानी में गिरता है तो अपने ही बजन में डूब जाता है| यदि आपको अपना दर्द मह्सूस होता है तो आप जीवित है और यदि आपको दुसरों का दर्द महसूस होता है तो आप एक इंसान हैं| इंसान की आकड़ वाजिब है, जब पैसा आने पर दो बटुआ भी फुल हो जाता है-

Posted on: Dec 27, 2019. Tags: BALARAMPUR CG SONU KUMAR NETI

झलुआ मा झूलें हे माई संबलपुर बमलाई...छत्तीसगढ़ी भक्ति गीत-

ग्राम-मेढ़ारी, पोस्ट-करमडीहा, तहसील-वाड्रफनगर, जिला-बलरामपुर (छत्तीसगढ़) से सोनू कुमार नेटी एक छत्तीसगढ़ी भक्ति गीत सुना रहे है:
झलुआ मा झूलें हे माई संबलपुर बमलाई-
गोदना गोदावे इसन डोंगरगढ़ भिलाई-
लाल चुनरी ला ओढ़े आये रे दाई-
सरगुजा ले हमर महा माई-
कांसे के थाली माई माटी के दिया वो-
जरेला ज्योति माई करो तोर आरती वो...

Posted on: Dec 23, 2019. Tags: BALRAMPUR CG SONG SONU KUMAR NETI

जितना है उसी में संतुष्ट रहें...कहानी-

एक राजा था| उसे लोग जिन की कहानी सुनाया करते थे| कहानियां सुनकर उसे इच्छा हुई| वो भी जिन को प्राप्त करे| राजा ने कई लोगों से पूछा लेकिन कोई जवाब नहीं दे पाया| एक बार वो जंगल में शिकार करने जा रहा था| तभी उसे आवाज सुनाई दिया| वह चारो तरफ देखा, कोई नहीं दिखा| उसने देखा सामने एक बोतल पड़ी जिसमे से आवाज आ रही है| उसने राजा से पूछा तुम कहाँ जा रहे हो| राजा ने कहा मै जिन की तलास कर रहा हूँ| जिन बोला मै ही जिन हूँ| राजा बोला ये बोतल में क्या कर रहे हो| जिन बोला मुझे किसी ने बोतल में बंद कर दिया| मुझे बहार निकाल दोगे तो मै तुम्हारी सभी इच्छ पूरी कर दूंगा| राजा की मनोकामना पूरी हो गई| उसने जिन को बहार निकाल दिया| उसके बाद जिन बोला बताइये क्या करना, लेकिन उससे पहले मेरी एक शर्त है, कि आप हमेशा मुझे काम देते रहेंगे| नहीं तो मै आपके सबसे प्रिय को खा जाऊंगा| राजा ने एक-एक कर अपनी सारी इच्छा पूरी कर ली| फिर उसके पास कोई काम नहीं बचा| जिन बोला आज मुझे कोई काम नहीं दिये हो| इसलिये मै राजकुमार को खा जाऊंगा| राजा बोला रुको तुम इस डिबिया में चले जाओ| फिर मै तुम्हे और काम दूंगा| जिन डिबिया के अंदर गया| राजा ने उसे बंद कर दिया और समुंदर में फेकवा दिया|इसलिये कहा गया है, जितना है उसी में संतुष्ट रहें| सोनू गुप्ता@9838264308.

Posted on: Jul 01, 2019. Tags: SONU GUPTA STORY

लोमड़ी और ऊंट की कहानी...

एक सैतान लोमड़ी थी| उसे दूसरो को परेशान करने में बड़ा मजा आता था| उससे सभी परेशान थे| एक दिन उसे जंगल से भगा दिया गया| जाते समय उसे एक ऊंट मिला| ऊंट का भी कोई दोस्त नहीं था| इसलिये वह लोमड़ी से बोली तुम मुझसे दोस्ती करोगे| फिर दोनों दोस्त बन गये, और साथ में रहने लगे| एक दिन लोमड़ी अपने मामा के घर जाने को बोला | ऊंट बोला इतनी भी क्या जल्दी है| दो-चार दिन रुक लो फिर चले जाना| लोमड़ी बोली ठीक है| दोनों एक बार घूमने को निकले लोमड़ी रेत में नहीं चल सकती थी, तो ऊंट ने उसे अपने ऊपर बैठाकर घुमाने को कहा| घुमते हुये| लोमड़ी बोला मुझे रेत में गोता लगाना है| ऊंट ने मना किया| लेकिन लोमड़ी नहीं मना, और परेशान करने के लिये| रेत में गोता लगाने के लिये नीचे उतरा जिससे रेत में फसकर अधमरा हो गया| तब ऊंट ने उसे उठाकर किनारे पर रखा| और कहा दोबार ऐसी मुर्खता नहीं करना|

Posted on: Jun 28, 2019. Tags: SONU GUPTA STORY

किसी पर हँसने की वजाय आओ उसे हँसाकर तो देखे...कविता-

सीजीनेट के साथी सोनू गुप्ता एक कविता सुना रहे हैं :
किसी पर हँसने की वजाय आओ उसे हँसाकर तो देखे-
किसी को रुलाने की वजाय, आओ उन आंसुओ को पोछकर भी देखे-
कितना सकून मिलता है, मन का एक फूल खिलता है-
हांथो में हांथ रखकर, कंधे से कंधा मिलाकर-
आओ हम साथ चलें, आओ हम सब एक कहानी बदलें-
अपनी ही हो परेशानिया चाहे कितनी भी चले आंधियां...

Posted on: Jun 12, 2019. Tags: POEM SONU GUPTA

View Older Reports »

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »

Loading

Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download