5.6.31 Welcome to CGNet Swara

मम्मी और बेटी के बीच की वाद संवाद...

मम्मी बेटी से कहती है बेटी अब तुम लड़को से ज्यादा मटरगस्ती मत किया करो, तुम जवान हो चुकी हो, बेटी कहती है मम्मी इस उमर में मटरगस्ती नही करूंगी तो क्या बुढ़ापे में करूंगी-
मम्मी-अब तुम लड़को से ना मिला करो बदनामी होगी-
बेटी-आप भी तो अप्पू अंकल से पापा से छुप-छुपकर मिला करती हैं, क्या आपकी बदनामी नही होती है-
मम्मी-बेटी मै तो मम्मी बन चुकी हूँ, मेरा क्या है पर अभी तुम कवारी हो, तुम्हारी शादी तक नही हुई है-
बेटी-मम्मी मेरी भी शादी हो जाएगी, मै भी माँ बन जाउंगी आप चिंता किया ना करें-
मम्मी-बेटी तुमको कौन समझाए, तुम तो नासमझ, बड़ी जिद्दी हो-
बेटी-मम्मी आप भी तो मेरी उमर में बड़ी जिद्दी नासमझ रही होंगी, इसलिए तो मै भी आप की तरह हूँ-
मम्मी कोई जवाब नही दे पाती, दोनों चुप होकर अलग-अलग चले जाते हैं...

Posted on: Sep 23, 2018. Tags: CG KANAHIYALAL PADIYARI RAIGARH STORY

एक गरीब किसान और बादल की कहानी...

एक गाँव में एक गरीब किसान रहता था, वह अपने खेत में प्रतिदिन हल चलाता था
बारिश नही होती थी, 4 साल से अकाल की स्थिति थी, फिर भी किसान हल चलाता रहता, किसान को ऐसा करते देख एक दिन बादल ने पूछा, पानी नही गिर रहा, अकाल पड़ा है, तो तुम हल क्यों चला रहे हो, किसान ने जवाब दिया, यदि मै ये काम छोड़ दिया तो वर्षा होने तक हल चलाना भूल जाऊंगा, ऐसा सुनकर बादल सोचा इतने समय तक मै नही बरसूंगा तो मै भी वर्षा करना भूल जाऊंगा फिर सारे बदल इक्कठा हुए और बारिस करने लगे| तात्पर्य ये है, हमें निरंतर अपने काम में लगे रहना चाहिए | दुर्गेश पटेल@7509265773

Posted on: Sep 23, 2018. Tags: CG DURGESH PATEL STORY SURAJPUR

चित्रकार व अच्छे और बुरे व्यक्ति की कहानी-

एक चित्रकार चित्र बनाने के लिए एक अच्छे व्यक्ति की तलाश में भटक रहा था, आखिरकार उसे वह व्यक्ति मिल गया, उसने व्यक्ति का एक सुंदर चित्र बनाया और उसे बाजार में बेचा, जो बहुत अच्छे दाम में बिका, फिर उसने एक बहुत खराब व्यक्ति का चित्र बनाने का सोचा और तलाश कर उसका भी चित्र बनाया, उसे भी बेचा और वह चित्र भी अच्छे दाम में बिका, उसके बाद वह बुरा व्यक्ति चित्रकार के पास पहुंचा और पूछा मेरा चित्र क्यों बनाते हो, मै बुरा हूँ, तब चित्रकार के पूछने पर व्यक्ति जवाब दिया मै बचपन में अच्छा था, लेकिन बड़ा होकर बुरी संगति में रहकर बुरा हो गया इससे यह सीख मिलती है हमें अच्छी संगति करनी चाहिए :
दुर्गेश पटेल@7509265773.

Posted on: Sep 20, 2018. Tags: CG DURGESH PATEL STORY SURAJPUR

अपनों से अलग होने से हमारी कीमत कम रह जाती है, कृपया अपने परिवार, मित्रों से हमेशा जुड़े रहें...

हरिशंकर रजक एक कहानी सुना रहे है: जब अंगूर खरीदने बाजार गया, उसका क्या भाव है पूछा तो बोला 80 रूपये किलो। पास ही कुछ अलग-अलग टूटे हुए अंगूर दाने पड़े हुए थे पूछा क्या भाव है बोला 30 रूपये किलो। मैंने पूछा इतना कम दाम क्यों ओ बोला साहब है तो अभी बहुत बढिया लेकिन अपने गुच्छे से टूटे गये है इसलिए। मैं समझ गया कि अपनों से अगल होने पर हमारी कीमत आधे से भी कम रह जाती है कृपया आपने परिवार मित्रो से हम हमेशा जुड़े रहे:
दूसरा एक चुटकुला : एक पढ़ा लिखा आदमी एक अनपढ़ ग्वार दोनों दोस्त है अनपढ़ बोलता है पढ़ा लिखा से घड़ी और बीबी में क्या अंतर है पढ़ा लिखा आदमी बोलता है घडी बिगड़ जाती है तो बंद हो जाती जब बीबी बिगड़ जाती है तो शुरु हो जाती है...

Posted on: Sep 20, 2018. Tags: BODLA CG HARISHANKAR RAJAK JOKE KABIRDHAM STORY

एक गौटिया और उसके चरवाहे की कहानी-

गाँव में रवि नारायण पटनायक नाम का एक गौटिया रहता था, एक दिन उसका नौकर बैसाखू गाय-भैस चराने गया और कुछ काम पड जाने के कारण मवेशियो को छोड़कर घर चला गया, तभी वही पास के कुंए में नहाने के लिए गौटिया गया, उसने मवेशियों को बिना चरवाहे के देख कांजीघर में डाल दिया, जब चरवाहा काम कर वापस आया तो मवेशियो को ना देखकर घबराया और अपने मालिक के पास जाकर बताया, मालिक ने कहा जाओ कांजी में देखना, मवेशी वही पर थे, तब उसने नौकर को थप्पड़ मारकर कहा पैसा रख और मवेशियों को लेकर आ, नौकर ने कांजी वाले से पूछा कि मवेशियो को किसने दिया था, तो पता चला उसके मालिक ने ही दिया था, तब से वह सुधर गया|

Posted on: Sep 19, 2018. Tags: CG KANHAIYALAL PDIYARI RAIGARH STORY

View Older Reports »

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »


Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download


From our supporters »