5.6.31 Welcome to CGNet Swara

किरकोसा करकोसा करकानन्गर रोशा...गोंडी हरियाली गीत

ग्राम-सिरसांगी, पंचायत-आमगाँव, तहसील-अंतागढ़, जिला-उत्तर बस्तर कांकेर (छत्तीसगढ़) से अनीता और सितेश्वरी प्राथमिक शाला सिरसांगो स्कूल के बच्चों द्वारा हरियाली त्यौहार पर आधारित एक गोंडी गीत सुना रहे है:
किरकोसा करकोसा करकानन्गर रोशा-
किरकोसा करकोसा करकानन्गर रोशा-
जिलुम जलुम अनमा सांगो नाना वाय्तोना-
नाना वाय्तोना,नाना वाय्तोना निया कातिर-
नाना वाय्तोना नाना वाय्तोना नाना वाय्तोना...

Posted on: Aug 08, 2018. Tags: ANITA GONDI SONG KANKER SEETESHWARI

हाथ ला धोले ओ दीदी, छुए के पहिली लईका ला...स्वच्छता गीत-

ग्राम-सालेभाट, विकासखण्ड-नरहरपुर, जिला-उत्तर बस्तर कांकेर (छत्तीसगढ) से अनीता साहू, राधाबाई यादव और संतोषी यादव एक मितानिन गीत सुना रहे हैं :
हांथ ला धोले ओ दीदी, हांथ ला धोले ओ दीदी-
छुए के पहिली लईका ला-
जुग-जुग जियय ओ दीदी, नान-नान लईका हा-
हांथ ला धोले ओ दीदी, हांथ ला धोले ओ दीदी-
छुए के पहिली लईका ला-
जुग-जुग जियय ओ दीदी, नान-नान लईका हा...

Posted on: Jul 24, 2018. Tags: ANITA SAHU AYAM GANESH SONG

इस जमाने में नारियो का झंडा ऊँचा उठाना है...महिला समूह गीत

ग्राम-सालेभाट, विकासखंड-नरहरपुर, जिला-उत्तर बस्तर कांकेर (छत्तीसगढ) से शांति यादव, कुवरबती साहू, अनीता साहू और राधा यादव एक महिला समूह गीत सुना रहे है:
इस जमाने में नारियो का झंडा ऊँचा उठाना है-
ए दी तुम नारी हो तो हमारा साथ दो – चाहे तुम अमीर हो, चाहे तुम ग़रीब हो – ए दी तुम नारी हो तो हमारा साथ दो – इस जमाने में नारियो का झंडा ऊचा उठाना है...

Posted on: Jul 24, 2018. Tags: ANITA SHAU HINDI SONG KANKER KUWARBATI SAHU SHANTI YADAV

प्रेम की बारे में रोपे गाये हम,प्रेम की बारे में...विवाह गीत

मनीषा कुमारी, अनिता और नीलम एक्का जो ग्राम-घरगट्टी, तहसील-चैनपुर, जिला-गुमला (झारखंड) से है वे लोग एक विवाह गीत सुना रहे है:
प्रेम की बारे में रोपे गाये हम प्रेम की बारे में-
प्रेम की बारे में रोपे गाये हम, प्रेम की बारे में-
दीदी ने दादा से प्रेम किया,हा हा हा हा-
प्रेम की बारे में रोपे गए हम प्रेम की बारे में...

Posted on: Jul 02, 2018. Tags: ANITA MANISHA KUMARI NILAM EKKA SONG

हो जुग-जुग जीओ हो, हो भईया जीओ हो...सामा चकवा लोकगीत

जिला-मुजफ्फरपुर (बिहार) से अनीता कुमारी, प्राची और सिमरन एक सामा चकवा लोकगीत सुना रही हैं:
हो जुग-जुग जिओ हो हो भईया जिओ हो-
सामकेली सलली भौजी संग सहेली-
ऐरिन बैरिन निहुंच के फेंकब भैईया के ओही पार-
ताम चकेवा कंच बताईब भागमती के धार हो-
वृंदावन में आग लागल केहु ना बुझावे हो-
हंबड भईया चकवा भईया पटना से आवे हो...

Posted on: Jun 15, 2018. Tags: ANITA KUMARI

View Older Reports »

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »


Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download


From our supporters »