बच्चों के बीच रहो तो मन की चिंता, डर, तनाव सब दूर हो जाता है: आदिवासी आश्रम की शिक्षिका -

सीजीनेट जन पत्रकारिता जागरूकता यात्रा आज ग्राम पंचायत-टाहकवाडा, विकासखण्ड-छिंदगढ़, जिला-सुकमा (छत्तीसगढ़) में पहुँची है वहां से अमर मरावी छात्रावास की शिक्षिका रामकुमारी नेताम और कुमारी पिंकी नुरेटी से चर्चा कर रहे हैं, वे बता रही हैं कि वे दोनों कांकेर से हैं और पहले उन्हें डर लगता था उन्होंने 2 अगस्त 2010 से बालिका छात्रावास में काम शुरू किया था, आश्रम में 127 बच्चे और 3 शिक्षिका हैं, स्कूल में पहली से 5 वी तक की कक्षा है, वे बच्चो के सांथ ही ज्यादा समय व्यतीत करती है, जब वे बच्चो के बीच होती हैं, तो उनके मन की चिंता, तनाव सब दूर हो जाता है, वे बहुत अच्छे से पूरा काम देखते है और संभालते हैं : अमर मरावी@9754684672.

Posted on: Sep 25, 2018. Tags: AMAR MARAVI CG CHHINDGARH EDUCATION SCHOOL SUKMA

हमारे यहाँ गोंडी बोलने वाले शिक्षक आ जाये तो शिक्षा का स्तर सुधर सकता है, अभी बच्चे नहीं समझते...

ग्राम पंचायत-हान्केर, तहसील-पखांजुर, विकासखंड-कोयलीबेडा, जिला-उत्तर बस्तर कांकेर (छत्तीसगढ़) से बलराम कुलदीप, लवकुमार और सुरेश आचला सीजीनेट जन पत्रकारिता यात्रा के अमर मरावी को बता रहे हैं कि उनके गाँव क्षेत्र में अधिकतर लोग, बच्चे से बूढ़े सभी गोंडी अधिक बोलने वाले हैं, इनके गाँव के स्कूल प्राथमिक या माध्यमिक में ज्यादातर शिक्षक हिंदी, छत्तीसगढ़ी बोलने वाले हैं, वहां के स्कूल में गोंडी बोलने वाले शिक्षक नही है जिससे बच्चों के साथ बातचीत का आदान-प्रदान पूर्ण रूप से नही हो पाता है, इससे पढाई में भी परेशानियां होती है अगर कोई गोंडी बोलने वाले शिक्षक आ जाए तो प्राथमिक विद्यालय में अध्धयन के स्तर में काफी मात्रा में सुधर हो सकता है |

Posted on: Sep 17, 2018. Tags: AMAR MARAVI CG EDUCATION GONDI KANKER KOELIBEDA

हमारे गाँव के स्कूल में सारे शिक्षक हिंदी बोलते हैं, छोटे बच्चे गोंडी जानते हैं, गोंडी शिक्षक चाह

ग्राम पंचायत-घोड़ागाँव, तहसील-पखांजुर, जिला-उत्तर बस्तर कांकेर, (छत्तीसगढ़) से लालसाय उसेंडी, महेकुमार, लालसूराम बता रहे है कि उनके गाँव में अधिक गोंडी भाषा बोली जाती है, उनका कहना है कि स्कूल में जितने भी शिक्षक आते हैं सभी हिंदी बोलते हैं| जिससे बच्चे और शिक्षक के बीच में शिक्षा का बातचीत अच्छे से हो नही पाती है, और यह एक अध्यन का मुख्य कारण है, शिक्षक और बच्चो के बीच में बातचीत में तालमेल नहीं है जिससे बच्चे अधिक अंक नही ला पाते है | वे अच्छे प्राप्तांक लाने से वंचित रह जाते हैं, अगर कोई गोंडी बोलने वाला शिक्षक आये तो बच्चों के बीच में भाषा की जो असमानता है वो ठीक हो सकता है, और पढाई में बहुत कुछ सुधार हो सकता है |

Posted on: Sep 16, 2018. Tags: AMAR MARAVI CG EDUCATION KANKER PAKHANJUR

हमारे गाँव के स्कूल का छत फटा हुआ है पानी टपक रहा है, दो साल से किचन में पढाई चल रही है...

ग्राम-तोकजबेली, तहसील-पखांजूर, जिला-कांकेर (छत्तीसगढ़) से मनकुराम, गुरुदास सरोठे और अर्जुन मठामी बता रहे है कि उनके गाँव का स्कूल का छत फटा हुआ है और पूरा पानी टपक रहा है बच्चे लोग पढाई नहीं कर पा रहे है| किचन रूम में बैठकर पढाई कर रहे है ऐसा दो ढाई साल से चल रहा है उसके लिए गाँव के लोगो ने जनपद ऑफिस में दो बार आवेदन भी दिए थे लेकिन आज तक उसका कोई सुनवाई नहीं हुआ | तो उनका कहना है कि स्कूल की छत को ठीक किया जाए | इसलिए साथी सीजीनेट सुनने वाले साथियों से मदद की अपील कर रहे है कि इन नम्बरों में अधिकारियो से बात कर स्कूल की छत को ठीक किया जाए : CEO@07868222203, 9425258269. अधिक जानकारी के लिए संपर्क@7647013487.

Posted on: Sep 07, 2018. Tags: CG EDUCATION GURUDAS SAROTHE KANKER MANKURAM PAKHANJUR

हमारे गांव के सरकारी हाईस्कूल में 70 बच्चे और एक शिक्षक है, हम सोचते हैं स्कूल को बंद करा दें...

ग्राम-पड़ेंगा, ब्लॉक-कोयलीबेडा, जिला-कांकेर (छतीसगढ़) से मोहन यादव ग्रामीण और स्कूल के बच्चो के साथ बातचीत कर रहे है, गांव में हाई स्कूल है जिसमे 70 बच्चे नामांकित हैl इस बिद्यालय में सिर्फ एक शिक्षक हैl बिद्यार्थी रेखा आचला और मनोज का कहना है शिक्षक नहीं रहने के कारन हम लोग का पढाई ठीक से नहीं हो पाता हैl ग्रामीण गांडूराम आचला बता रहे है शिक्षक समस्या के समाधान हेतु लिखित आवेदन दिए हैं, पर अभी तक कोई पहल नहीं हुआ है,बिना शिक्षक वाले स्कूल में बच्चे पढकर कुछ नहीं कर सकते हैl ग्रामीण सुनने वाले साथियों से कलेक्टर@9425584388, जिला शिक्षा अधिकारी@9406412061, सरपंच@ 9407977798 से बात कर मदद करने की गुहार लगाये है...

Posted on: Aug 31, 2018. Tags: CG EDUCATION KANKER KOYALIBEDA MOHAN YADAV

View Older Reports »

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »

Loading

Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download