अधिकारी द्वारा रजिस्ट्रेसन नहीं करने पर योजना का लाभ नहीं मिला...

ग्राम पंचायत-चपानी, तहसील-कोतमा, जिला-अनूपपुर (मध्यप्रदेश) से जयनाथ सिंह बता रहे हैं, प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत उन्हें 6000 रुपये मिलना था, लेकिन आज तक योजना का किस्त उनके खाते में नहीं आया है, उन्होंने अपने कागजात रजिस्ट्रेसन के लिये सहायक पटवारी के पास जमा किये थे, चेक कराने से जानकारी मिला कि उनका रजिस्ट्रेसन नहीं हुआ है जिसके कारण योजना का पैसा नहीं मिला है इसलिये वे सीजीनेट के श्रोताओं से अपील कर रहे हैं कि दिये नंबरों पर बात कर योजना का लाभ दिलाने में मदद करें: सहायक सचिव@8839433547, हल्का पटवारी@8839386238. संपर्क नंबर@9340831256.

Posted on: Jan 26, 2020. Tags: ANUPPUR JAINATH SINGH MP PROBLEM

झंडा मेरा लहराय है खुशी से...गीत-

मनेद्रगढ़, जिला-कोरिया (छत्तीसगढ़) से सरोज गुप्ता एक गीत सुना रही हैं:
झंडा मेरा लहराय है खुशी से-
चढ़े तख्त फासी आजादी लुटा दी-
हमारी ये मुश्किल भुलाना नहीं-
हमारे वतन से हमारे चवन से-
ये सुंदर बहारे चुराना नहीं-
एसा है हवा का झोका इसलिये मैंने तुमको रोका-
है आजादी का दिन जीत हो रात दिन-
झंडा मेरा लहराय है खुशी से...

Posted on: Jan 26, 2020. Tags: CG KORIYA SAROJ GUPTA SONG

जुग जुग जिये तोरा ललना यसोदा मईया...बधाई गीत-

मनेद्रगढ़, जिला-कोरिया (छत्तीसगढ़) से सरोज गुप्ता एक गीत सुना रही हैं:
जुग जुग जिये तोरा ललना यसोदा मईया-
जैसे बाढ़े चंदा गगन में वैसे बढे तेरा ललना-
जैसे चमके सूरज गगन में वैसे चमके तेरा ललना-
जैसे महके फूल बगियन में वैसे महके तेरा ललना-
जुग जुग जिये तोरा ललना यसोदा मईया-
जब तक रहे गंगा में पानी तब तक जिये तोरे ललना-
यसोदा मईया...

Posted on: Jan 25, 2020. Tags: CG KORIYA SAROJ GUPTA SONG

अरे दुनिया हो गयी पुरानी बदलो भईया...गीत-

लबारी कला, जिला-गढ़वा (झारखण्ड) से संतोष कुमार गुप्ता एक गीत सुना रहे हैं :
अरे दुनिया हो गयी पुरानी बदलो भईया-
सास बहु करती है झगडा बेटा बाप लड़ाई-
आज हुआ है जानी दुसमन अपना सगा भाई-
घर घर की कहानी बदलो भईया-
अरे घर कोई माता पिता को रोटी नहीं खिलाते-
और मर जाने पर मृतक भोज में रुपया खूब लुटाते-
छोड़ो छोड़ो ये कहानी बदलो भईया...

Posted on: Jan 24, 2020. Tags: GARHWA JHARKHAND SANTOSH KUMAR GUPTA SONG

फागुन आता देखकर, उपवन हुआ निहाल...गीत-

जिला-अनूपपुर (मध्यप्रदेश) से राकेश कुमार एक होली गीत कविता सुना रहे हैं:
फागुन आता देखकर, उपवन हुआ निहाल-
अपने तन पर लेपता, केसर और गुलाल-
तन हो गया पलाश-सा, मन महुए का फूल-
फिर फगवा की धूम है, फिर रंगों की धूल-
मादक महुआ मंजरी, महका मंद समीर-
भँवरे झूमे फूल पर, मन हो गया अधीर...

Posted on: Jan 21, 2020. Tags: ANUPPUR MP RAKESH KUMAR SONG

View Older Reports »

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »

Loading

Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download