अवैध रूप से सरपंच सचिव के मिलीभगत से क्रेशर संचालित किया जा रहा है...कृपया मदद करें-

ग्राम-मेढ़ाखार, पोस्ट-करपा, तहसील-पुष्पराजगढ़, जिला-अनूपपुर (मध्यप्रदेश) से घनश्याम सिंग बता रहा हैं, गाँव में 2 क्रेशर मशीन संचालित है, अब तीसर क्रेशर मशीन संचालित करने की कोशिश किया जा रहा है, गाँव वालो की उसमे कोई सहमति नही है, क्रेशर लगने से पशुओं का चारागाह ख़त्म हो जायेगा, 15 अगस्त 2017 को ग्रामसभा की बैठक में यह फैसला लिया गया कि उस भूमि को किसी प्रकार की खनिज दोहन या लीज पर नही दिया जायेगा, लेकिन सरपंच, सचिव के माध्यम से बिना ग्रामसभा के जबरदस्ती यह प्रस्ताव पारित किया गया है, इस विषय पर जानकारी कमिशनर ऑफिस शहडोल, जिला अधिकारी अनूपपुर, वनविभाग पुष्पराजगढ़ को है, लेकिन कोई निराकरण नही हो रहा है इसलिये वे सीजीनेट के साथियों से मदद की अपील कर रहे हैं : कलेक्टर@07359222400, सचिव@9479832683. संपर्क नंबर@8989880920.

Posted on: Sep 19, 2019. Tags: ANUPPUR GHANSHYAM SINGH MP PROBLEM

हे दहेज़ के ठेकेदारों तुम्हे अकल कब आइ गी...दहेज़ प्रताड़ना गीत-

महेंद्र प्रताप ग्राम-आनापुर, मझगवा, थाना-महराजगंज, जिला-जौनपुर (उतरप्रदेश) से गीत सुना रहे हैं :
हे दहेज़ के ठेकेदारों तुम्हे अकल कब आयेगी-
हे दहेज़ के बीमारी भारत से किस दिन जायेगी-
अर्थी चढ़ी है हर कन्या पे बैठ न पावे डोली पे-
लाखों घर बर्बाद होंगे इस दहेज़ के होली में-
गरीब के बेटी अंगारों में जलती-
हाथों में नही चूडियाँ मेंहेदी को तरसती-
आज हजारों कन्याओं को आग में जलते देखा हूँ-
आज हजारो अबलाओं को रेल से कटते देखा हूँ...

Posted on: Sep 18, 2019. Tags: JAUNPUR MAHENDRA PRATAP UP

कबूतर एक पक्षी का नाम ख़त पहुँचाना इसका काम...कविता-

ग्राम-छुलकारी, जिला-अनूपपुर (मध्यप्रदेश) से लल्लू केवट एक कविता सुना रहे हैं :
कबूतर एक पक्षी का नाम ख़त पहुँचाना इसका काम-
प्यारा-प्यारा है खरगोश सबसे न्यारा है खरगोश-
गमले में है फूल खिला तितली इन पर डेरा डाले-
कितना सुंदर है ये घर हम सब रहते हैं इसके अंदर-
चुन्नू चमचम लेकर आओ चम्मच से तुम चम्मच को खाओ-
छतरी मेरे मन को भाये वर्षा से यह मुझे बचाये...

Posted on: Sep 17, 2019. Tags: ANUPPUR LALLU KEWAT MP POEM

काली कोयल बोल रही है...लोकगीत-

ग्राम-छुलकारी, जिला-अनूपपुर (मध्यप्रदेश) से लल्लू केवट एक लोकगीत सुना रहे हैं:
काली कोयल बोल रही है डाल-डाल पर डोल रही है-
कुहू-कुहू कर गीत सुनाती कभी नहीं मेरे घर आती-
सुंदर और सजीला आम, कितना रंग रंगीला आम-
सब के मन को भाता आम,कितना रंग रंगीला आम-
काली कोयल बोल रही है डाल-डाल पर डोल रही है-
कुहू-कुहू कर गीत सुनाती कभी नही मेरे घर आती...

Posted on: Sep 17, 2019. Tags: ANUPPUR LALLU KEWAT MP SONG

चाह नहीं, मैं सुरबाला के गहनों में गूँथा जाऊँ...कविता-

ग्राम-छुलकारी, पोस्ट-पसला, जिला-अनूपपुर (मध्यप्रदेश) से भागवती केवट एक कविता सुना रही हैं:
चाह नहीं, मैं सुरबाला के गहनों में गूँथा जाऊँ-
चाह नहीं प्रेमी-माला में बिंध प्यारी को ललचाऊँ-
चाह नहीं सम्राटों के शव पर हे हरि डाला जाऊँ-
चाह नहीं देवों के सिर पर चढूँ भाग्य पर इठलाऊँ-
मुझे तोड़ लेना बनमाली, उस पथ पर देना तुम फेंक-
मातृ-भूमि पर शीश- चढ़ाने, जिस पथ पर जावें वीर अनेक...

Posted on: Sep 16, 2019. Tags: ANUPPUR LALLU KEWAT MP SONG

View Older Reports »

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »

Loading

Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download