झूठी बचन मत बोलना हो तुम्ही रामा न मिलहीं...गीत-

ग्राम-सरइ, जिला-डिंडौरी (मध्यप्रदेश) से मुन्नी एक ददरिया गीत सुना रही हैं:
झूठी बचन मत बोलना हो तुम्ही रामा न मिलहीं-
कहां लगयों बेला चमेली-
कहां लगायो गुलाब हो-
तुम्ही रामा न मिलहीं-
चबूतरा लगयों बेला चमेली-
परतन लगयों गुलाब हो-
आज तुम्ही रामा न मिलहिं...

Posted on: Jan 19, 2020. Tags: DINORI MP SANTOSH AHIRWAR SONG

डरते रहोगे ये जिन्दगी बेकार न हो जाए...भजन गीत-

ग्राम-सरई, पोस्ट-चांदवानी, जिला-डिंडोरी (मध्यप्रदेश) से संतोष अहिरवार एक भजन गीत सुना रहे है:
डरते रहोगे ये जिन्दगी बेकार न हो जाए-
सपने में भी किसी जीव का-
उपकार न हो जाये-
भय है तो अनमोल सदाचार के लिए-
ये रीतियों मर फंसके कहीं-
अनाचार न हो जाये-
डरते रहोगे ये जिन्दगी बेकार न हो जाए...

Posted on: Jan 09, 2020. Tags: BHAJAN SONG SANTOSH AHIRWAR

तोला कैसे के भुला हूँ जबलपुरहिन तोला कैसेके. ...छत्तीसगढ़ी गीत

संतोष कुमार शिधार छत्तीसगढ़ी गीत सुना रहे हैं:
तोला कैसे के भुला हूँ जबलपुरहिन तोला कैसे के-
तोला कैसे के भुला हूँ बिलासपुरिहा तोला कैसे के-
तोला कैसे के तोला कैसे के ओ तोला कैसेके-
रोपा लगायन कटेला बना मोला जल्दी-जल्दी हवे दुर्ग जाना-
तोला कैसे के भुला हूँ बिलासपुरिहा तोला कैसेके-
आमा पकी है हिला हूँ कैसे अरे मैं दुरिहा हव बुला हूँ कैसे के-

Posted on: Dec 21, 2019. Tags: CG SANTOSH KUMAR SHIDHAR

कुछ लेना ना देना मगन रहना...भजन-

ग्राम पंचायत-सुंदरा, जिला-राजनांदगांव (छत्तीसगढ़) से संतोष सिंह यादव एक भजन सुना रहे हैं :
कुछ लेना ना देना मगन रहना-
पांच तत्व का बना है पिंजरा-
भीतर बोल रही मैना-
तेरा पिया तेरे घाट मै बसत है-
देखो री सखी खोल नैना-
गहरी नदिया नाव पुरानी-
कुछ लेना ना देना मगन रहना...

Posted on: Dec 18, 2019. Tags: SANTOSH SINGH YADAV SONG

देशभक्ति गीत : मेरे महबूब वतन, मेरे महबूब वतन...

ग्राम-पहाड़िया, पोस्ट-उस्रार, जिला-सतना (मध्यप्रदेश) से संतोष कुमार ढाली एक देशभक्ति गीत सुना रहे हैं:
मेरे महबूब वतन, मेरे महबूब वतन-
तुझपे कुर्बान ये जान, तुझपे कुर्बान ये तन-
आज शायर का कलम, तेरे गीतों पे लिखा-
आज फनकार कफन, तेरा सौगाई बना-
जान देने की लगन, सर पे बांधे हैं कफ़न-
मेरे महबूब वतन, मेरे महबूब वतन-
तुझपे कुर्बान ये जान, तुझपे कुर्बान ये तन-
देख महफ़िल में कही, आज मैं जागू नहीं-
हुस्न लैला का कोई, अब खरीदार नहीं-
जान देने की लगन, आज फीका है चमन-
मेरे महबूब वतन, मेरे महबूब वतन-
तुझपे कुर्बान ये जान, तुझपे कुर्बान ये तन...

Posted on: Nov 25, 2019. Tags: SANTOSH KUMAR DHALI SATNA MP SONG

View Older Reports »

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »

Loading

Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download