स्वास्थ्य स्वर : बीमारी के वक्त लोगों को परहेज करने की आवश्यकता होती है...

छोटे डोंगर, नारायणपुर (छत्तीसगढ़) से वैद्य एच डी गांधी गांव के वैद्य हेमचंद मांझी से चर्चा कर रहे हैं| वे बता रहे हैं कि उनके पास कैंसर, दमा, मिरगी बीमारी से पीड़ित लोग आते हैं| वे बता रहे हैं| जो व्यक्ति केंसर से पीड़ित हैं| वे हल्दी, उड़द की दाल, कुंदरू, बूंदी, कोचई, आम, ईमली खटाई का सेवन न करें | परहेज करने से ही बीमारी को ठीक किया जा सकता है| बीमारी से संबंधित जानकारी के लिये दिये गये नंबर संपर्क कर सकते हैं : वैद्य हेमचंद मांझी@9407954317.

Posted on: Mar 15, 2019. Tags: CG HD GANDHI NARAYANPUR SWASTHYA SWARA

मछली जल की रानी है, रानी है, रानी है...बाल कविता -

ग्राम-गीदम बेड़ा, जिला-नारायणपुर (छत्तीसगढ़) से चंद्रिका पोटाई एक बाल कविता सुना रही हैं:
मछली जल की रानी है, रानी है, रानी है-
हांथ लगाओगे तो डर जायेगी-
बहार निकालोगे तो मर जायेगी-
पानी में डालोगे तो तैर जायेगी-
दाना खिलाओगे तो खा जायेगी-
मछली जल की रानी है, रानी है, रानी है...

Posted on: Mar 15, 2019. Tags: CG CHANDRIKA POTAI NARAYANPUR POEM

नानी तेरी मोरनी को मोर ले गये, बाकि जो बचा था काले चोर ले गये...कविता-

ग्राम-गीदम बेडा, जिला-नारायणपुर (छत्तीसगढ़) से कुमारी चंद्रिका पोटाई एक कविता सुना रही हैं :
नानी तेरी मोरनी को मोर ले गये-
बाकि जो बचा था काले चोर ले गये-
खाते-पीते, मोटे-मोटे चोर बैठे रेल में-
चोरो वाला डब्बा कटके पहुंचा सीधे जेल में-
उन चोरो की खूब खबर ली, मोटे थानेदार ने-
मोरो को भी खूब नचाया जंगल की सरकार ने...

Posted on: Mar 15, 2019. Tags: CG KUMARI CHANDRIKA POTAI NARAYANPUR

10 साल पहले गांव छोड़कर आए थे अब यहीं रहकर खुश हैं...

शांति नगर, जिला-नारायणपुर (छत्तीसगढ़) से रुधेश्व सलाम ईंट बनाने का काम करते हैं| वे बता रहे हैं कि नक्सल वादियों के डर से अपना गांव छोड़कर उस जगह पर आ गये और रहने लगे, तब से उसी गांव में रह रहे हैं | उन्हें गांव में रहते दस साल हो चुके हैं| अब रुधेश्वर उसी गांव में रहना चाहते हैं, वापस नहीं जाना चाहते| उनका कहना है अब जीवन पहले से अच्छा है| चार बच्चे हैं, पहले मजदूरी का काम करते थे, अब ईंट बनाने का काम करते हैं और उसी से जीवन यापन करते हैं|

Posted on: Mar 11, 2019. Tags: CG HD GANDHI NARAYANPUR STORY

Impact : मेरा विकलांग पेंशन 2 साल से नहीं मिल रहा था, सीजीनेट के साथियों के मदद से पेंशन मिल गया है इसलिए

ग्राम-तिरोटोला ध्वाधांड, पंचायत-गायचंदा, प्रखंड-झरीडीह, जिला-बोकारो (झारखण्ड) से शिवनारायण महतो बता रहे है कि उनके गाँव एक लड़की कल्पना कुमारी का विकलांग पेंशन पहले मिल रहा था लेकिन 2 साल से नहीं मिल रहा था उसके लिए उन्होंने ब्लाक और जिला में भी शिकायत किये तो ब्लाक में पता किये तो बोले कि पैसा भेज दिया गया है| बैंक गए तो पता चला कि पैसा नहीं भेजा गया | तो फिर उन्होंने सीजीनेट स्वर में एक सन्देश रिकॉर्ड किये करने के बाद सीजीनेट के साथियों की मदद से 2 महिने के अन्दर उनके खाते में पैसा आ गया और वे खुश है | इसलिए सीजीनेट के साथियों को और जिला अधिकारियो को धन्यवाद दे रहे है| जिन्होंने उनकी मदद की...

Posted on: Feb 15, 2019. Tags: BOKARO IMPACT JHARKHAND SHIVNARAYAN MAHTO

View Older Reports »

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »

Loading

Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download