स्वास्थ्य स्वर : मुंह में छाले होने पर घरेलू उपचार...

जिला-टीकमगढ़ (मध्यप्रदेश) से वैद्य राघवेंद्र सिंह राय मुह में छाले हो जाने पर घरेलू उपचार बता रहे हैं| चमेली के 5 पत्ते मुह में लेकर चबायें और थूकते रहें, जब तक उसका रस निकलता है| ये प्रकृया 4 दिन तक करना है| यदि चमेली का पत्ता न मिले तब अमरुद या जामफल के पत्ते का भी उपयोग किया जा सकता है| संबंधित विषय पर जानकारी के लिये संपर्क कर सकते हैं| संपर्क नंबर@7007590143. (AR)

Posted on: Sep 28, 2020. Tags: HEALTH DEPARTMENT

स्वास्थ्य स्वर : आलू के औषधीय उपयोग...

ग्राम-रनई, थाना-पटना, जिला-कोरिया (छत्तीसगढ़) से वैद्य केदारनाथ पटेल आलू के औषधीय उपयोग बता रहे हैं, दुबलापन में छिलका सहित आलू खाने से लाभ हो सकता है, इसका सेवन प्रतिदिन करना है| कच्चे आलू को उबले पानी में पीसकर लेप बना लें और उसे चेहरे पर लगायें इससे चेहरे के झाईयां में लाभ हो सकता है| संबंधित विषय पर जानकारी के लिये दिये नंबरों पर संपर्क कर सकते हैं| नुस्खा उपयोग करने से पहले पूरी जानकारी लें| संपर्क नंबर@9826040015. (AR)

Posted on: Sep 27, 2020. Tags: HEALTH DEPARTMENT

स्वास्थ्य स्वर : कौंच का औषधीय उपयोग...

ग्राम-रनई, थाना-पटना, जिला-कोरिया (छत्तीसगढ़) से वैद्य केदारनाथ पटेल कौंच बीज का औषधीय उपयोग बता रहे हैं, कौंच के बीज को थोड़े से चूने के साथ खाने से थकान में आराम मिलता है और भूख नहीं लगती है, इसका ज्यादा सेवन करना हानिकारक है| इसके संबंध में जानकारी के लिये दिये नंबर पर संपर्क कर सकते हैं, उपयोग से पहले पूरी जानकारी ले तभी उपयोग करें| केदारनाथ पटेल@9826040015. (AR)

Posted on: Sep 27, 2020. Tags: HEALTH DEPARTMENT

स्वास्थ्य स्वर : कड़वी तरोई के औषधीय गुण..

ग्राम-रनई, थाना-पटना, जिला-कोरिया (छत्तीसगढ़) से वैद्य केदारनाथ पटेल कड़वी तोरई के गुण बता रहे हैं| कड़वी तरोई का सेवन करने से मलेरिया, सूजन, लीवर की बीमारी में आराम मिल सकता है| इस तरोई की गिरी को पानी में पीसकर पिलाने से कुत्ते का विष निकल जाता है| इसके सूखे फल का चूर्ण बनाकर सुघाने से पीलिया बीमारी में लाभ हो सकता है| संबंधित विषय पर जानकारी के लिये संपर्क कर सकते हैं| पूरी जानकारी प्राप्त करने बाद नुस्खा उपयोग करें: संपर्क नंबर@9826040015. (AR)

Posted on: Sep 25, 2020. Tags: HEALTH DEPARTMENT

स्वास्थ्य स्वर : आमा हल्दी के औषधीय उपयोग...

जिला-टीकमगढ़ (मध्यप्रदेश) से वैद्य राघवेंद्र सिंह राय आमा हल्दी के औषधीय उपयोग बता रहे हैं| चोट लगने पर खून जम जाने या गांठ बन जाने की स्थिती में आमा हल्दी का महीन चूर्ण बनाकर सरसों के तेल में गुनगुना कर चोट लगे भाग पर लगायें| ऐसा करने से आराम मिल सकता है| 5 दिन तक लेप लगा सकते हैं| संबंधित विषय पर जानकारी के लिये संपर्क कर सकते हैं: संपर्क नंबर@9519520931. (AR)

Posted on: Sep 24, 2020. Tags: HEALTH DEPARTMENT

View Older Reports »