स्वास्थ्य स्वर : जोड़ों में दर्द खून की कमी का घरेलू उपचार-

प्रयाग विहार, मोतीनगर, रायपुर (छत्तीसगढ़) से वैद्य एच डी गांधी अस्तो पोरेसेस जोड़ों में दर्द खून की कमी का घरेलू उपचार बता रहें है, गेहूं और चावल के मुकाबले में ज्यादा फायदेमंद होता है, बाजरा में भरपूर कैल्शियम और आयरन भी अधिक होता है, जो की हड्डीयों के लिए रामबाण औषधीय है, बाजरे की रोटी नास्ता में दो-दो रोटी खाने से खून की कमी से लाभ हो सकता है, एक-एक चम्मच बजरा का चूर्ण दिन में दो बार एक कप दूध के साथ सेवन करने से खून की कमी मे लाभ हो सकता है, मिर्च, मसाला, तेल, खटाई, गरिष्ठ भोजन, मैदा, शक्कर नमक का प्रयोग कम करें| नशा न करें| अधिक जानकारी के लिये संपर्क कर सकते हैं : एच डी गांधी@7879751110. (183927) GT

Posted on: Jan 14, 2021. Tags: HEALTH

स्वास्थ्य स्वर : बूखार का घरेलू उपचार-

प्रयाग बिहार, मोतीनगर, रायपुर (छत्तीसगढ़) से वैद्य एच डी गाँधी बुखार का घरेलू उपचार बता रहें है, काली मिर्च 30, गिल्वे 30 ग्राम, दाल चीनी 30 ग्राम, पिपली 30 ग्राम, छोटी हरण 30 ग्राम, चित्रक 30 ग्राम, इस सबको कूट पिस कर दरदरा चूर्ण बना ले, एक गिलास पानी में एक चम्मच चूर्ण को डाल के उसें उबाले जब 2 कप बच जाए| उसमे स्वाद अनुसार गुड डाले और उसे सुबह शाम पिने से लाभ हो सकता है| अधिक जानकारी के लिये संपर्क कर सकते हैं : एच डी गांधी@9111061399. (181211)

Posted on: Jan 14, 2021. Tags: HEALTH

स्वास्थ्य स्वर : दंती का औषधि प्रयोग-

ग्राम-रनई, थाना-पटना, जिला-कोरिया छत्तीसगढ़ से वैद्य केदारनाथ पटेल आज हम लोगो को वन औषधि द्वारा दंती का औषधि प्रयोग बता रहे है, दंती के बीज जमालगोटे के सामान तीव्र चेचक होते है | अधिक मात्रा में लेने पर ये प्राण घातक भी हो जानते है | इसके बीज उतेजक और चरम दाहक पदार्थ की तरह भी काम में लिये जाते है | संधिवाद के लिये इसकी छाल बहुत उपयोगी होती है | इसके बीज बहुत कम मात्रा में लेवे | 2-3 प्रति से ज्यादा न लेवे | 2 शतलज के पूर्व में इसके पत्ते घाव को दुरुस्त करने के काम में लिये जाते है | इसके पत्ते घाव को भरने के लिये भी उपयोग किया जाता है | इसका रस लोहे को गलाने के काम में भी आता है | पीलिया में भी इसका जड़ बहुत उपयोगी होता है | इसके पत्ते काड़ा दमे के बीमारी में भी अत्यंत लाभदायक है | संपर्क@9826040015.

Posted on: Jan 12, 2021. Tags: HEALTH DEPARTMENT

स्वास्थ्यस्वर : दमा रोग के घरेलू उपचार बता रहें हैं...

ग्राम-रनई, थाना-पटना, जिला-कोरिया (छत्तीसगढ़) से वैद्य केदारनाथ पटेल दमा रोग का घरेलू उपचार बता रहे हैं, दमा रोग में खजूर अहम भूमिका निभाती हैं खजूर के सेवन से जमे हुए दमा रोग काप को निकालने में मदद करती हैं जिसे दमा रोग खत्म हो जाती हैं, खजूर और सोठ की चूर्ण में मिलाकर पान के साथ सेवन करने से बहुत ही लाभ होता हैं दमा रोग में भूख नही लगने से खजूर की चटनी बनाकर खाने से भूख में वृध्दि होती हैं और इसे पाचन शक्ति भी अच्छी रहती हैं अधिक जानकारी के लिए संपर्क करें संपर्क नंबर@9826040015.(179648) GT

Posted on: Jan 11, 2021. Tags: HEALTH

स्वास्थ्य स्वर : देशी जड़ी बूटियों से उल्टी बंद करने का औषधि उपचार-

जिला-टीकमगढ़ मध्यप्रदेश से वैद्य राघवेंद्र सिंह राय आज हम लोगो को उल्टी (बोमिट) का देशी जड़ी बूटियों का औषधि बता रहे है, अगर किसी व्यक्ति को उल्टियाँ हो रही हो तो उसके लिये बेर होता है | उस बेर की गुठली को फोड़ने से जो मीही निकलेगी उसको उलटी आने वाले व्यक्ति को खिलाकर पानी पिला देने से उलटी बंद हो जायेगी | इसके आलावा दौड़ा इलायची (बड़ी इलायची) को लोहे के तवे में रखकर जला लेवे और उसकी जो राख है उसको सेहत के साथ मिलाकर खाने से उल्टियाँ बंद हो जायेगी | संपर्क@9519520931.

Posted on: Jan 11, 2021. Tags: HEALTH DEPARTMENT TIKAMGADH MP

View Older Reports »