दादर गीत : नजरिया काहे को मिलाया...

जिला-कोरिया (छत्तीसगढ़) से सरोज गुप्ता एक दादर गीत सुना ररही है:
नजरिया काहे को मिलाया-
बिना देखे रहा ना जाये-
ताला खोदया, तलैया खोदाया-
चुनरिया काहे को ओढ़ाहा-
बाग़ लगाया बगीचा लगाया-
चमेली काहे को लगाया-
ना सूंघे रहा ना जाये-
नजरिया काहे को मिलाया-
बिना देखे रहा ना जाये...

Posted on: Dec 05, 2019. Tags: KORIYA CG SAROJ GUPTA SONG

सुहाग गीत : किसने गुथी चोटी, सुहाग भरे मोती...

मनेन्द्रगढ़, जिला-कोरिया (छत्तीसगढ़) से सरोज गुप्ता एक गीत सुना रही है:
किसने गुथी चोटी, सुहाग भरे मोती-
खेलन गये थे बने, दादा जी की बगिया-
दादी रानी गुथी सुहाग भरे मोती-
खेलन गये थे बने, पापा जी के बगिया-
मम्मी रानी गुथी सुहाग भरे मोती-
खेलन गये थे बने, चाचा जी के बगिया-
चाची रानी गुथी सुहाग भरे मोती-
खेलन गये थे बने, मामा जी के बगिया-
मामी रानी गुथी सुहाग भरे मोती...

Posted on: Nov 27, 2019. Tags: KORIYA CG SAROJ GUPTA SONG

स्वास्थ्य स्वर : दमा रोग का पारम्परिक घरेलू उपचार...

ग्राम-रणय, जिला-कोरिया (छत्तीसगढ़) से वैधराज केदारनाथ पटेल दमा का घरेलू उपचार के नुस्ख़े बता रहे है, जिनका की पिछले 40 वर्षो का पारम्परिक देशी उपचार करने का अनुभव साझा कर रहे है. सामग्री-अर्जुन छाल, पिपली, दाल चीनी, गुड़, दूध, इलायची, इन सभी को मिलाकर काड़ा बनाकर पिने से लाभ होता है. मात्रा: 250 ग्राम दूध, 250 ग्राम पानी, 10 ग्राम अर्जुन छाल, 5 ग्राम दाल चीनी, बड़ी पीपल, 1 बड़ी इलायची, 50 ग्राम पुराना गुड़ इन सब का काड़ा बनाकर दिन में 2-से 3 बार आवश्यकता अनुसार सेवन करने से दमा रोग में लाभ होता है. सम्पर्क@9826040015.

Posted on: Nov 27, 2019. Tags: HEALTH KEDARNATH PATEL KORIYA CG

भजन : मन फुला फुला फिर जगत मा कैसे नाता रे...

ग्राम-जुलगी, तहसील-भरतपुर, जिला-कोरिया (छत्तीसगढ़) से लाल यादव एक गीत सुना रहें है:
मन फुला फुला फिर जगत मा कैसे नाता रे-
माता कहें यह टूटे हमारी बहन कहें यह भईया मेरे-
बेटी पकड़ के माता रोयें बाह पकड़ के भाई-
लपट झपट के तिरिया रोयें हंश अकेला छाई-
जब तक जियों माता रोयें बहन रोयें दसमा सा-
तैरा दिन का तिरिया रोयें फिर करें करवासा...

Posted on: Nov 22, 2019. Tags: KORIYA CG LAL YADAV SONG

शिव भक्ति गीत : भोले बाबा ने ऐसा, बजाया डमरू...

जिला-कोरिया (छत्तीसगढ़) से सरोज गुप्ता एक शिव भक्ति गीत सुना रहे है:
भोले बाबा ने ऐसा बजाया डमरू-
सुनके कैलाश पर्वत, मगन हो गया-
कोई गंगा मगन, कोई जमुना मगन-
सुनके सरजू का मन भी, मगन हो गया-
हुए ब्रह्मा मगन, हुए विष्णु मगन-
सुनके नारद का मन भी, मगन हो गया-
भोले बाबा ने ऐसा बजाया डमरू-
सुनके कैलाश पर्वत, मगन हो गया-
हुए सूरज मगन हुए चन्दा मगन-
सुनके तारों का मन भी मगन हो गया-
हुए ललिता मगन, हुए राधा मगन-
सुनके कृष्णा के मन भी मगन हो गया-
भोले बाबा ने ऐसा बजाया डमरू-
सुनके कैलाश पर्वत, मगन हो गया...

Posted on: Nov 22, 2019. Tags: KORIYA CG SAROJ GUPTA SONG

View Older Reports »

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »

Loading

Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download