स्वासथ्य स्वर: सर्दी के घरेलू उपचार

जिला-रीवा (मध्यप्रदेस) से जगदीश कुमार जी साथ में गांव के ग्रामीण बता रहे हैं सर्दी का घरेलू उपचार, शाम को हाथ-पाँव अच्छे से धोने के बाद सरसों का तेल तलवे पर मालिश करें साथ ही नाक में भी सरसों का तेल अंदर डालें| यह कार्य 2 दिन तक करें ऐसे में आपकी सर्दी बिल्कुल ठीक हो जाएगी| अधिक जानकारी के लिए संपर्क नंबर@9109784723.

Posted on: Feb 04, 2022. Tags: DIPARTMENT HELTH MP REWA

स्वासथ्य स्वर: पथरी का इलाज इस पत्ती से

जिला-रीवा मध्यप्रदेस से रवींद्र कुमार जी बता रहे हैं, मैं आज एक औषधि पौधा के बारें में बताने जा रहा हूँ| इसका नाम है पत्थर छटठा| इस पौधे को उपयोग के लिए पत्ती का इस्तेमाल किया जाता है और इससे पथरी का इलाज किया जाता है|यह गद्देदार पत्ती होती है एवं पत्तियों में ही पत्ती निकलती है| ज्यादा जानकारी के लिए संपर्क नंबर @910978 4723.

Posted on: Jan 24, 2022. Tags: DEPARTMENT HELTH JILA-REVA MP RAVINDRA KUMAR

गाँव मे नहीं है मितानींन दवाई के लिए 15 किलोमीटर जाना पड़ता है कृपया मदद की अपील-

ग्राम-अलवा (लोहरपारा),ब्लाक-दरभा, जिला-बस्तर (छत्तीसगढ़) से सीताराम कश्यप जी बता रहे है इनके गाँव में मितानींन नहीं है|मितानींन के न होने से गाँव में छोटी मोटी बीमारियों में दवाई के लिए परेशान होना पड़ता है|गर्भवती महिलाओं को भी प्रसव के समय अस्पताल लाने ले जाने में भी परेशानी होती है|बीमारियों के समय दवाई के लिए भी दूर तोकापाल 15 किलोमीटर जाना होता है |कृपया इस समस्या के समाधान के लिए दिए नंबर पर संपर्क कर अधिक जानकारी ले सकते है|संपर्क नंबर@ 6260208299, सरपंच@940766 9883, सचिव@9406109008.

Posted on: Jan 10, 2022. Tags: ALWA BASTAR CG DARBHA HELTH SITARAM KASHYAP VALUNTEERS

बस्तर में मिलने वाला लाल चींटी दवाई के रूप मे खाया जाता है,जोकि लाभदायक है-

ग्राम-हाटपदमुर, ब्लाक-जगदलपुर, जिला-बस्तर (छत्तीसगढ़) से जगतराम पुजारी जी बता रहे हैं बस्तर में मिलने वाला चापड़ा जिसे लाल चींटी कहते है ये चापड़ा पेड़ के पत्तों पर घोंसला बनाकर रहते हैं और इसमें छोटे-छोटे लाल चींटिया पाई जाती हैं|इस लाल चींटी को लोग चटनी बनाकर खाते हैं| इसका स्वाद खाने में खट्टा होता है| इस चटनी को खाकर लोग मलेरिया,सरदर्द,साधारण बुखार,पीत बुखार से निजात पाते हैं| अधिक जानकारी के लिए संपर्क नंबर@6232510142.

Posted on: Jan 07, 2022. Tags: ANT BASTAR BENIFIT CG DEPARTMENT HATPADMUR HELTH JAGTRAM PUJARI OF RED

स्वास्थ्य स्वर: मलेरिया का घरेलु उपचार-

ग्राम पंचायत-कटेनार, ब्लाक-बास्तानार, जिला-बस्तर (छत्तीसगढ़) से रतिराम बघेल मलेरिया का घरेलु उपचार बता रहे हैं, भुई नीम एक ऐसा पौधा जो मलेरिया के इलाज के लिए उपयोग किया जाता है| यह पौधा बस्तर के जंगलों में पाया जाता है, इस पौधे को जंगल से लाकर पानी के साथ उबालकर पिया जाता है, मलेरिया के मरीज को यह पानी लगातार तीन दिन तक पिलाना है इसके पश्चात मलेरिया उतर जाता है|इसके साथ ही एक और पौधा गडुर है इसका रस व छिलका को सांप का जहर निकालने में किया जाता है| संपर्क नंबर@@8817582371.

Posted on: Jan 02, 2022. Tags: BASTAR CG DARBHA HELTH RATIRAM BAGHEL

View Older Reports »

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »


YouTube Channel




Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download