कभी प्यासे को पानी पिलाया नही...गीत-

ग्राम-पडौली, जिला-सरगुजा (छत्तीसगढ़) से परमेश्वर मरावी एक गीत सुना रहे हैं:
कभी प्यासे को पानी पिलाया नही-
बाद अमृत पिलाने से क्या फायदा-
मैंने मंदिर गया पूजा आरती की-
पूजा करते हुये ये ख्याल आ गया-
कभी माँ बाप का सेवा की ही नही-
फिर पूजा करवाने से क्या फायदा-
कभी प्यासे को पानी पिलाया नही...

Posted on: Mar 27, 2020. Tags: CG PARMESHVAR MARAVI SONG SURGUJA

हम को मन की शक्ति देना, मन विजय करे...गीत-

ग्राम पंचायत-बमलया, पोस्ट-देवगढ़, थाना-सीतापुर, जिला-सरगुजा (छत्तीसगढ़) से विष्णू टोप्पो एक गीत सुना रहे हैं:
हम को मन की शक्ति देना, मन विजय करे-
दूसरों की जय से पहले, खुद को जय करे-
भेदभाव अपने दिल से साफ़ कर सके-
दोस्तों से भूल हो तो माफ़ कर सके-
झूठ से बचे रहे, सच का दम भरे-
दूसरों की जय से पहले, खुद को जय करे-
मुश्किलें पड़े तो हम पे इतना कर्म कर…

Posted on: Mar 23, 2020. Tags: CG SONG SURGUJA VISHNU TOPPO

वृद्धावस्था के लिये आवेदन देते है लेकिन सुनवाई नहीं होती...

भण्डार पारा, ग्राम-फलौनी, तहसील-भवरपुर, जिला-सरगुजा (छत्तीसगढ़) से रामेश्वर राम मरावी बता रहे हैं कि उनके पिता रामजीत मरावी को वृद्धावस्था पेंशन मिलना अप्रैल 2018 में बंद हो चुका है, कभी पेंशन मिलता है तो आधा दिया जाता है, उन्होंने इसके लिये गाँव के सरपंच सचिव के पास आवेदन किया लेकिन सुनवाई नहीं हो रही है इसलिये वे सीजीनेट के साथियों से अपील कर रहे हैं कि दिये नंबरों पर बात कर समस्या का निराकरण कराने में मदद करें : सरपंच@9753373998, सचिव@7999796088. संपर्क नंबर@8959778358.

Posted on: Mar 21, 2020. Tags: CG PROBLEM RAMESHWAR MARAVI SURGUJA

रामे में राम बसे रामे में रम कोला...भजन-

ग्राम कोटिया, विकासखण्ड प्रतापपुर, जिला सरगुजा (छत्तीसगढ़) भजन सुना रहा है:
रामे में राम बसे रामे में रम कोला-
देवी झरिया ढाक छूते अमारिया कोला-
रामे में राम बसे रामे में रम कोला-
राम बा रामायण के हे-
लक्ष्णण नम बा पत्रता-
सीता माई बा लुगरा ले हे फुल ले हे पतत्रा-
रामे में राम बसे रामे में रम कोला...

Posted on: Sep 05, 2019. Tags: CG MEWALAL DEVANGAN SONG SURGUJA

मधुबन में राधिका नाचे रे...गीत-

ग्राम-पर्री, तहसील-लखनपुर, जिला-सरगुजा (छत्तीसगढ़) से संदीप दास महंत एक गीत सुना रहे हैं :
मधुबन में राधिका नाचे रे-
गिरधर की मुरलिया बाजे रे-
पग में घुँघर बाँध के, घुँघटा मुख पर डाल के-
नैनन में कजरा लगा के रे-
डोलत छम-छम कामिनी, चमकत जैसे दामिनी
चंचल प्यारी छब लागे रे...

Posted on: Aug 24, 2019. Tags: CG SANDIP DAS MAHANT SONG SURGUJA

View Older Reports »

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »

Loading

Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download