स्वास्थ्य स्वर : (बहुमूत्र) बार-बार पेशाब आने की शिकायत पर वनऔषधि द्वारा उपचार-

ग्राम-रनई, थाना-पटना, जिला-कोरिया छत्तीसगढ़ से वैद्य केदारनाथ पटेल आज हम लोगो को बहु मूत्र बार-बार पेशाब आने की शिकायत पर वन औषधि द्वारा उपचार बता रहे है, गर्म पानी पियें, मुली का प्रयोग ना करें, तील, गुड का लड्डू बना ले, और शाम सुबह एक-एक लड्डू और बांस का पत्ती का रस मिला कर सेवन करे, और अनार के छिलका का चूर्ण बना कर सेवन करने से लाभ हो सकता है,अधिक जानकारी के लियें संपर्क नम्बर@9826040015. (182256) GT

Posted on: Dec 04, 2020. Tags: HEALTH DEPARTMENT

स्वास्थ्य स्वर : कटसरईया पौधे का औषधीय उपयोग...

ग्राम-रनई, थाना-पटना, जिला-कोरिया (छत्तीसगढ़) से वैद्य केदारनाथ पटेल हाथी पाँव रोग का औषधीय उपयोग बता रहे, जड़ भांगरेज, तलाबों के किनारें मिलता है, पत्ती को इकट्ठा उसमे लाल रंग की पत्ती होती है, उस पत्ती का 2 चम्मच रस को शाम सुबह पिने से लाभ हो सकता है| नुस्खा उपयोग करने से पहले पूरी जानकारी लें : संपर्क नंबर@9826040015. (182255) GT

Posted on: Dec 03, 2020. Tags: HEALTH DEPARTMENT

स्वास्थ्य स्वर : बहु मूत्र बार बार पेशाब आने का घरेलू उपचार-

प्रयाग बिहार मोती नगर रायपुर राज्य छत्तीसगढ़ से वैद्य एच डी गाँधी जी बहु मूत्र बार बार पेशाब आने का घरेलु उपचार बता रहे है, मुलेटी 50ग्राम, मिश्री 30ग्राम, काली मिर्ची 25ग्राम, इन सब को साफ कर कूट पिस कर चूर्ण बना लेवे और सुरचित कर लेवे मात्र तीन तीन ग्राम चूर्ण गाय के घी के साथ सुबह शाम काली पेट सेवन करने से शीघ्र लाभ होता है बचने का उपाय टंडी चीजो से बचे और मिर्च मसाला गरिस्ट भोजन का उपयोग ना करे नसा ना करे मैदा शक्कर नमक प्रयोग कम करे, सुगर का बीमारी के लिए सिकलिंग के बीमारी के लिए बवासीर के लिए गुप्त रोगों के लिए संपर्क कर सकते है मोबाई नंबर 9111061399 (182108)RM

Posted on: Dec 02, 2020. Tags: HEALTH DEPARTMENT

स्वास्थ्य स्वर : शीघ्रपतन का घरेलू उपचार-

प्रयाग विहार, मोतीनगर, रायपुर (छत्तीसगढ़) से वैद्य एच डी गाँधी शीघ्रपतन का घरेलू उपचार बता रहे हैं, सफ़ेद कनेर का जड़ का छाल को गाय के दूध में उबाले, और उसका दही बनायें इस दही का माखन निकालकर कर पान के पत्ती में रखकर के सेवन करने से लाभ हो सकता है| संबंधित विषय पर जानकारी के लिये संपर्क कर सकते हैं: संपर्क नंबर@9111061399. (182107) GT

Posted on: Dec 02, 2020. Tags: HEALTH DEPARTMENT

स्वास्थ्य स्वर : बर्फी बनाने का घरेलू उपचार-

प्रयाग बिहार मोती नगर रायपुर राज्य छत्तीसगढ़ से वैद्य एच डी गाँधी बर्फी बनाने का घरेलू उपचार बता रहें हैं,सफेद मुस्ली 500 ग्राम, कोंच के बीज 2.50ग्राम, सेमल मूसली 2.50 ग्राम, सतावल 2.50ग्राम, ताल मखाना 2.50ग्राम,सोंट 2.50ग्राम ये सभी को साफ व कूट फ़ीस कर चूर्ण बनाना हैं,बनाने कि विधि- 5 लीटर गाय के दूध को उबाल कर सभी समाग्री को मिला देना हैं धीमी आच में उबालना हैं गाड़ा हो जाने पर मिश्री या गुण मिला कर थाली में बर्फी कि जमा लेना हैं,मात्रा-10ग्राम रात में खाना के बाद सोने से पहले 1 गलास दूध के साथ सेवन करना हैं,अधिक जानकारी के लिये सम्पर्क नम्बर 9111061399, ID(182046)R.M

Posted on: Dec 01, 2020. Tags: HEALTH DEPARTMENT

View Older Reports »