पीड़ितों का रजिस्टर: 2011 में उनके पिताजी को नक्सलियों ने हत्या कर दिए...

ग्राम पंचायत कोहकामेटा, ब्लाक ओरछा, जिला नारायणपुर छत्तीसगढ़ सुखराम नूरेटी पिता बसुराम नूरेटी बता रहे हैं 2011 में उनके पिताजी को नक्सलियों ने हत्या कर दिए। फिर अपना गांव छोड़कर नक्सलियों के डर से अपनी जान बचाकर नारायणपुर शांति नगर आकर विस्थापित हुए। पिताजी के घटना के बाद आर्थिक सहायता ₹30000 मिला था। अभी झोपड़ी में रहते हैं उनका रहने को घर नहीं है। सरकार को आवेदन दिए हैं लेकिन अभी तक कोई आश्वासन नहीं मिला है। इसलिए सीजीनेट के साथियों से मदद की अपील कर रहे हैं। सरकार से बात करके घर दिलाने में मदद करें अधिक जानकारी के लिए संपर्क नंबर@9098060210.

Posted on: Jan 28, 2023. Tags: CG DISPLACED KILLED MAOIST VICTIM NARAYANPUR ORCHHA VICTIM REGISTER

पीड़ितों का रजिस्टर: पुलिस मुखबिरी कह कर नक्सलियों ने गांव से भगा दिया...

ग्राम ताहलाडोड, पंचायत मेटानार, थाना सोनपुर, ब्लाक ओरछा जिला नारायणपुर छत्तीसगढ़ से बीजूराम नूरेटी, पिता लखनराम बता रहे हैं 2016 में शहर में आना-जाना करने से नक्सली लोग पुलिस मुखबिरी कहकर गांव में मीटिंग करते थे। पूरे गांव के लोगों के साथ मीटिंग किए और आधे लोग को नक्सली लोग बांध के रखे थे लगभग 1 सप्ताह तक नक्सली लोग के साथ रहे फिर गांव से भगा दिए। अभी गुडरी पारा नारायणपुर में किराए के घर में रहते हैं। वहां बहुत परेशानी हो रहा है पानी की परेशानी है और किराए के मकान में रहने से बहुत दिक्कत हो रही है। सरकार के तरफ से उन्हें आर्थिक सहायता नहीं मिला है। विलो पुराना गांव जाना चाहते हैं लेकिन वहां जाने से लोगों को जान से नक्सली लोग मार देते हैं। अधिक जानकारी के लिए संपर्क नंबर@8688610439.

Posted on: Jan 28, 2023. Tags: CG DISPLACED MAOIST VICTIM NARAYANPUR ORCHHA VICTIM REGISTER

पीड़ितों का रजिस्टर:-नक्सलियों ने परिवार को गाँव से भगाया,नारायणपुर शिविर में रहकर कुली मजदूरी क

गांव:बटुमपारा, पंचायत:ओरछा, जिला:नारायणपुर, राज्य:छत्तीसगढ़ से मोहन कोर्राम बता रहे हैं कि उनके परिवार में चार लोग हैं और नक्सली पुलिस मुखबिर बताकर उसकी हत्या करना चाहते थे। इसलिए वह जान बचाकर गुडरीपारा से बटुमपारा आकर रहने लगे। उसे सरकार से कोई मुआवजा नहीं मिला है। वे चाहते हैं कि सरकार उन्हें रहने के लिए घर दे और जीवन यापन करने हेतु रोजगार दे।पीड़ित ब्यक्ति सीजी नेट सुनने वाले साथियों से मदद का गुहार लगा रहे हैं।———————————————————————————————————-Village: Batum Para, Panchayat: Orchha, District: Narayanapur, State: Chhattisgarh, Mohan Korram says there are four in his family. He said that the Naxalites wanted to kill him. That’s why he came to Batum Para from Budri Para to live. He said he did not receive any compensation from the government. They want the government to give them a house to stay. That is why they are asking the friends of CG Net to talk to the authorities and provide them with home facilities.

Posted on: Jan 28, 2023. Tags: CG DISPLACED IN NARAYANPUR ORCHHA REGISTER STATE VICTIM

पीड़ितों का रजिस्टर: 2004 मदद के बाहाने पकड़ कर ले गये थे, फिर डर से गांव छोड़कर शांतिनगर में विस्थापित

ग्राम पंचायत मुरूमवाडा, जाटलूर, ब्लाक ओरछा, जिला नारायणपुर, छत्तीसगढ़, से ,उनका पूराना गांव है। वर्तमान पता शांतिनगर जिला नारायणपुर छत्तीसगढ़ से जंगलु वडडे, पिता रामूराम वडडे, बता रहे हैं दीदी सुनीता वडडे को 2004 में ओरछा बुलाए। फिर नक्सली लोग पकड़ कर ले गए और जंगल में घुमाए| लगभग एक सप्ताह तक नक्सली लोग सुनीता वडडे को बांध कर मारने के लिए रखे थे। फिर सुनीता जी ने वहां से रात में बहाना बना कर जंगल से भाग कर घर वापस आई। फिर वहां से मार के डर से अपना गांव छोड़कर शांतिनगर नारायणपुर में आकर रह रहे हैं। उनका बहन लोग का सादी हो गई हैं अभी परिवार में तीन लोग रहते हैं। और जंगलु वडडे, पेंटिग काम करते हैं। उन्हें अभी तक सरकार के तरफ से उनको मकान नहीं मिला हैं। न ही कोई आर्थिक सहायता मिला| सीजीनेट के साथियों से मदद की अपील कर रहे हैं सरकार से बात कर के घर दिलाने में मदद करें। अधिक जानकारी के लिए संपर्क नंबर:8839417192.

Posted on: Jan 28, 2023. Tags: CG DISPLACED MAOIST VICTIM NARAYANPUR ORCHHA VICTIM RAJISTAR

पीड़ितों का रजिस्टर:परिवार में बड़े पिता को पुलिस ने मार डाला।परिवार में किसी को सरकारी नौकरी दि

ग्राम: चिन्नारी, पंचायत: चिन्नारी, , जिला: नारायणपुर, राज्य: छत्तीसगढ़ संतोष यादव (पिता का नाम सरम यादव) 2011 में ग्राम चिन्नारी से नारायणपुर आये थे। उन्होंने कहा कि उनके बड़े पिता को पुलिस ने मार डाला था। संतोष यादव ने कहा कि नक्सलियों को शक था कि उनके पिता पुलिस के साथ हैं और उन्हें मारने के लिए हर शाम गांव में बैठकें करते थे। इसलिए वे नारायणपुर में इस डर से रहते हैं कि उनके पिता को भी मार दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि उनका पूरा परिवार नारायणपुर में रहने आया है। उनका आरोप है कि सरकार उन्हें कोई मुआवजा नहीं दे रही है। संतोष यादव अब 12वीं कक्षा में पढ़ रहा है। उसके परिवार में अब तीन छोटी बहनें और एक मां है। उसके पिता की दो साल पहले मौत हो गई थी। संतोष यादव का परिवार गरीबी में है और चाहता है कि परिवार में किसी को सरकारी नौकरी मिले। इसलिए वे सीजीनेट के साथियों से अनुरोध करते हैं कि वे अधिकारियों से बात करें और कोई भी सरकारी नौकरी प्राप्त करें। संपर्क व्यक्ति संख्या: 9329904174————————————————————————————————————-Village: Chinnari, Panchayat: Chinnari, Mandal: Parag Gaon, District: Narayanapur, State: Chhattisgarh Santosh Yadav (father’s name Saram Yadav) said that he came to Narayanpur from village Chinnari in 2011. They say that their elder father was killed by the police and that the Naxalites hold meetings in the village every evening to kill his father too. Santosh Yadav said that they came to live in Narayanpur fearing that their father would also be killed. They said that their entire family had come to live in Narayanpur. They complained that the government did not provide any compensation to them. Santosh Yadav is now studying in class 12. He said that his family now has three younger sisters and a mother. His father died two years ago. Santhosh Yadav’s family is in bad condition and someone in the family wants to get a government job. Hence they are requesting CGNet colleagues to talk to the authorities and provide any government job. Contact Person No:9329904174

Posted on: Jan 28, 2023. Tags: BY CG CHINNARI KILLED NARAYANPUR POLICE REGISTER VICTIM

« View Newer Reports

View Older Reports »

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »


YouTube Channel




Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download