कहाँ ले आया कोरोना, अकल मोरो गूम होगे...कोरोना गीत-

ग्राम-नीलकंठपुर, पंचायत-गोर्गी, ब्लॉक-प्रतापपूर, जिला-सूरजपूर (छत्तीसगढ़) से जगदेव प्रसाद पोया एक कोरोना के विषय में गीत सुना रहे हैं:
कहाँ ले आया कोरोना-
अकल मोरो गूम होगे-
बुद्धि मोरो गायब होगे-
कहाँ ले आया कोरोना-
अकल मोरो गूम होगे-
कामे खादलानो कामे बिज़ारे-
नहीं है पैसा कवड़ी नहीं है रुपिया रे... (NM)

Posted on: Jul 06, 2020. Tags: CORONA SONG JAGDEV PRASAD POYA SURAJPUR CG

लॉकडाउन में बाहर से आया हूँ, मुझे अभी काम नहीं मिल रहा है, मदद करे...

ग्राम+पंचायत-जतरी, ब्लॉक-जवा, जिला-रीवा (मध्यप्रदेश) से सुषमा के साथ में ब्रिजलाल बता रहे है कि वे लॉकडाउन में बाहर से आये थे और क्वारंटाइन में 14 दिन तक थे और अभी वे उनके घर वापस चले गए है उनको अभी कोई काम नहीं मिल रहा है और सरकार द्वारा 1000 रुपयें उनका खाते में नहीं आया है उनका कहना है कि काम मिलना चाहिए | इसलिए वे सीजीनेट सुनने वाले साथियों से अपील कर रहे है कि दिए नंबर पर बात कर खाते में पैसा और काम दिलवाने में मदद करे : संपर्क@8827389351, C.E.O@9407803480. (170854) NM

Posted on: Jul 06, 2020. Tags: BRIJLAL CORONA PROBLEM REWA MP SUSHMA

तुम पर सबको होगा नाज तुम्हारा धन्यवाद...गीत-

राजनांदगाँव (छत्तीसगढ़) से विरेन्द्र गंधर्व एक गीत सुना रही हैं:
नाम है अखिलेश कुमारी-
मीठी है तेर तुम्हारी-
हर दिल में करोगी राज-
तुम्हारा धन्यवाद-
धन्यवाद है कोटि-
आयु है तुम्हारी छोटी-
तुम पर सबको होगा नाज तुम्हारा धन्यवाद...

Posted on: Jul 06, 2020. Tags: CG RAJNANDGAON SONG VIRENDRA GANDHARV

बिआहि लई रघुवर जानकी का,बिआहि लई रघुवर जानकी का...बघेली भाषा में विवाह गीत-

बहनी दरबार, दोंदर कालोनी जिला-रीवा (मध्यप्रदेश) से सुसमा बहिन के साथ सियाबती हमारे सीजीनेट सुनने वाले श्रोताओं को बघेलखण्डी भाषा में एक विवाह गीत सुना रहे हैं:
बिआहि लई रघुवर जानकी का-
बिआहि लई रघुवर जानकी का-
अपने क लाये रघुवर पागा पिक्षोरा-
अपने क लाये रघुवर पागा पिक्षोरा-
रंगाई लये चुनरी हो जानकी का-
रंगाई लये चुनरी हो जानकी का CS

Posted on: Jul 06, 2020. Tags: BAGHELI SONG DONDARKALONI RIWA MP SIYABATI SUSMA

धुनी आऊ गउन्हा के पहिरे हे माला,धुनी आऊ गउन्हा के पहिरे हे माला-भजन गीत सुना रही है...

रेखा मुंडे ग्राम खैरागढ़ जिला राजनंदगांव छत्तीसगढ़ से सावन महिना के उपर भजन सुना रही है,
धुनी आऊ गउन्हा के पहिरे हे माला,धुनी आऊ गउन्हा के पहिरे हे माला
बिच्छु के हे बड़े गुथिया,भोले बाबा हवये बही रुपिया_2
बाबा हवये बही रुपिया,शिव शंकर हवाये बहि रुपिया
पिये हे चिलम आऊ, खाये धतुरा मनखे के मनसा ला करते गा पूरा
मन के मंदिर मा बसाये रे कांशी,आऊ खांसी हा नाइ हवाये दुरिहा |

Posted on: Jul 06, 2020. Tags: BHAJAN CG MUNDA RAJNANDGANV REKHA

« View Newer Reports

View Older Reports »