नय तो माने रे, नय तो माने रे, बड़ा देव नय तो माने रे...गोंडवाना गीत -

ग्राम-भेड़ीया, पोस्ट-भेड़ीया, जिला-सूरजपुर (छत्तीसगढ़) से राजकुमार पोया एक गोंडवाना गीत सुना रहे है :
नय तो माने रे, नय तो माने रे, बड़ादेव नय तो माने रे-
बिन महुआ के फूल, बड़ादेव नय तो माने रे-
जंगल-जंगल झाड़ लगे है, झाड़ में साजा झाड़-
झाड़ में साजा झाड़, बड़ादेव, झाड़ में साजा झाड़-
साजा झाड़ में, बड़ादेव विराजे-
प्रथ्वी के सरदार बड़ादेव, नय तो माने रे...

Posted on: May 25, 2017. Tags: RAJKUMAR POYA

जागो रे गोंडवाना, जागो रे गोंडवाना, जाती भुलागे धरम भुला गए...गोंडवाना गीत

ग्राम+पोस्ट-भेड़िया, तहसील-प्रतापपुर, जिला-सूरजपुर (छतीसगढ़) से गोंडवाना राजकुमार पोया एक गोंडवाना गीत सुना रहे है:
जागो रे गोंडवाना, जागो रे गोंडवाना-
जाती भुलागे धरम भुला गए-
जाती भुला गए धरम भुला गए-
और भुलागे, गोंडवाना वाना-
जागो रे गोंडवाना, जागो रे गोंडवाना-
माता भुला गए पिता भुला गए-
जंगल भुला गए, जमीन भुला गए-
भाषा भुला गए, किताब भुला गए-
और भुला गए, गोंडवाना – लिखाई भुला गए, पड़ाई भुला गए-
और भुला गए, गोंडवाना...

Posted on: Mar 02, 2017. Tags: GONDWANA RAJKUMAR POYA

जागो-जागो रे, जागो-जागो रे...गोंडवाना गीत

ग्राम-भेड़िया, पोस्ट-भेड़िया, तह्सील-प्रतापपुर, जिला-सूरजपुर (छत्तीसगढ़)
से गोंडवाना राजकुमार पोया एक गोंडवाना गीत सुना रहे है:
जागो-जागो रे, जागो-जागो रे-
गोंडवाना के आदिवासी जागो-जागो रे-
अब तो तेरा देश है आजाद रे-
गोंडवाना जाग रे जाग रे-
जाग रे जाग रे अब तो-
तेरा जन्म सिद्ध अधिकार रे...

Posted on: Feb 03, 2017. Tags: GONDWANA RAJKUMAR POYA

जागो-जागो मूलनिवासी जागो-जागो...गोंडवाना जागरूकता गीत

ग्राम-भेड़िया, पोस्ट-भेड़िया, तहसील-प्रतापपुर, जिला-सूरजपुर (छत्तीसगढ़)
से गोंडवाना राजकुमार पोया और उनके साथी एक गोंडवाना गीत सुना रहे है:
जागो रे गोंडवाना के वंशजो अब सोने का वक्त नहीं-
जो गोंडवाना के गाना को नकारता है उसे सुनने का वक्त नहीं-
जागो-जागो मूलनिवासी जागो-जागो-
जागो-जागो मूलनिवासी हीरा दादा कहत है-
भैया छोड़ो दारु पीना भैया छोड़ो-
भैया छोड़ो दारु पीना हीरा दादा कहत है...

Posted on: Feb 03, 2017. Tags: GONDWANA RAJKUMAR POYA

समाज सेवा करना आसान नहीं, कभी कष्ट उठाना पड़ता है...गोंडवाना गीत

ग्राम-भेड़िया, पोस्ट-भेड़िया, थाना-चंदोरा, तहसील-प्रतापपुर, जिला-सूरजपुर,
(छ.ग.) से राजकुमार पोया एक गोंडवाना गीत सुना रहे हैं:
बड़ा खुश नसीब होगा वह व्यक्ति-
जिसका नाम गोंडवाना के काम आये-
गोंडवाना पसीना मांगे तो खून देना चाहिए-
समाज सेवा करना आसान नहीं कभी कष्ट उठाना पड़ता है-
कभी पानी मिले कभी शरबत मिले कभी प्यासे रहना पड़ता है-
समाज सेवा करना आसान नहीं कभी कष्ट उठाना पड़ता है-
कभी चावल मिले कभी पूड़ी मिले,कभी भूखे रहना पड़ता है...

Posted on: Jan 26, 2017. Tags: RAJKUMAR POYA

View Older Reports »

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »

Loading

Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download