वनांचल स्वर : वात रोग का घरेलू उपचार-

जिला-मुंगेली (छत्तीसगढ़) से वैद्य रमाकांत सोनी आज हम लोगो को सामान्य रूप से लगभग हर घर में पाए जाने वाले वात रोग का एक घरेलू उपचार बता रहे हैं वे कह रहे हैं सामान्यत: वात रोग में कमर दर्द और पैर दर्द आदि होता है, उस स्थिति में हर घर में पाए जाने वाली हल्दी 50 ग्राम, 50 ग्राम मेथी दाना, सोठ 50 ग्राम, अश्वगंधा चूर्ण 50 ग्राम सभी को कूट पीसकर के चूर्ण बना लें, उसके बाद तीन बार छान लें, और एक-एक चम्मच सुबह और रात को सोते समय खाली पेट गर्म दूध या पानी के सांथ एक सप्ताह तक सेवन करें, इससे दर्द से आराम मिल सकता है, अधिक जानकारी के लिए दिए गए नंबर पर संपर्क कर सकते हैं : संपर्क रमाकांत सोनी@9589906028.

Posted on: Aug 15, 2018. Tags: HEALTH MUNGELI CHHATTISGARH RAMAKANT SONI VANANCHAL SWARA

स्वास्थ्य स्वर: 5 कली मिर्च, 5 तुलसी, 5 नीम की पत्ती का सेवन कर पूरे वर्ष भर स्वस्थ रह सकते हैं...

जिला-मुंगेली (छत्तीसगढ़) से वैद्य रमाकांत सोनी बता रहे हैं, भारतीय सभ्यता, संस्कृति में त्यौहारों का अपना अलग ही महत्व है, सर्वधर्म संभाव की भावना लिए हुए, यहां अनेक जाति और सम्प्रदाय के लोग निवास करते है, सभी धर्म का त्यौहार मानते हैं, इसी तरह से हिन्दू धर्म में हरेली त्यौहार का भी विशेष महत्व है, जो सावन के महीने में मनाया जाता है, इस मौसम में सभी तरफ हरियाली होती है, सुन्दर दृश्य होता है, इस पर्व के दिन किसान खेती नही करते, केवल देख रेख करते हैं, और सभी मिलकर ये त्यौहार मनाते हैं, एक मान्यता के अनुसार परंपरागत वैद्य अपनी विधा को कारगर बनाने के लिए औषधियों की पूजा करते हैं, यदि स्वस्थ व्यक्ति इस ऋतु में 21 दिन तक 5 कली मिर्च, 5 तुलसी और 5 नीम की पत्ती का सेवन करे तो पूरे वर्षभर स्वस्थ रह सकता है |

Posted on: Aug 14, 2018. Tags: CULTURE HEALTH MUNGELI CHHATTISGARH RAMAKANT SONI

तिरंगे के तीन रंगों को मैंने देखा बार-बार...राष्ट्रभक्ति कविता-

सेतगंगा, जिला-मुंगेली (छत्तीसगढ़) से वैद्य रमाकांत सोनी एक कविता सुना रहे हैं :
तिरंगे के तीन रंगों को मैंने देखा बार-बार-
तीन रंगों में ब्रम्हा, विष्णु, महेश दिखाई देते हैं-
तीन रंगों में मुझे सत्य,अहिंसा, ज्ञान, आनंद दिखाई देते हैं-
तीन रंगों में मुझे ज्ञान, भक्ति, योग दिखाई देते हैं-
तीन रंगों में मुझे स्वास्थ्य, शिक्षा और धर्म दिखाई देते हैं-
तीन रंगों में की छटा में मुझे बाबू, वल्लभ, आजाद दिखाई देते हैं-
तीन रंगों की बहार ज्ञानेश्वर, तुमराम, नामदेव की याद दिलाती है...

Posted on: Aug 14, 2018. Tags: MUNGELI CHHATTISGARH POEM RAMAKANT SONI

मुंगेली के पास स्थित ऐतिहासिक राम जानकी मंदिर में रावण और खजुराहो की तरह की मूर्तियां हैं...

सेतगंगा, जिला-मुंगेली (छत्तीसगढ़) से रमाकांत सोनी बता रहे हैं, जिला मुख्यालय से 16 किलोमीटर दूर टेसो नदी के तट पर स्थित एक ऐतिहासिक राम जानकी मंदिर है, जिनकी तीन विशेषताएं हैं, पहला मंदिर के समीप नर्मदा कुण्ड है, जिसका जल अमरकंटक के नर्मदा कुण्ड के सामान शीतल है, जिस वजह से उसका नाम सेतगंगा पड़ा, दूसरी विशेषता यह है कि मंदिर की बाहरी दीवारो पर खजुराहो की तरह मूर्तियां बनी हुई हैं, और अन्दर की दीवारो पर भगवान गणेश और अनेक देवी देवताओ की मूर्तियाँ काले ग्रेनाईट पत्थरों पर निर्मित हैं, तीसरी विशेषता यह है कि मुख्य द्वार के ऊपर रावण की मूर्ति स्थापित है, मांघ पूर्णिमा के पावन अवसर पर वहां तीन दिवसीय मेले का आयोजन होता है जिसमे बड़ी संख्या में लोग आते हैं, और कुण्ड में स्नान कर देवी-देवताओं से मन्नते मंगाते हैं |

Posted on: Aug 13, 2018. Tags: CULTURE MUNGELI CHHATTISGARH RAMAKANT SONI

वनांचल स्वर : दांत संबंधी समस्या का घरेलू उपचार-

मुंगेली (छत्तीसगढ़) से वैद्य राम सिंह दांत संबंधी समस्या का घरेलू उपचार बता रहे हैं, यदि किसी के दांत में दर्द है, मसूढो में दर्द है, खून निकल रहा है एसी स्थिति में हल्दी पाउडर, सेंधा नमक और सरसों का तेल तीनो को मिलाकर पेस्ट बना लें, और उससे दांतों और मसूढो का मसाज करें, मसाज के कुछ देर बाद कुनकुने पानी से कुल्ला करें, ये दिन के चार बार करने से दांत संबंधी समस्या में आराम मिल सकता है, अधिक जानकारी के लिए इस नंबर पर संपर्क कर सकते हैं : संपर्क नंबर@9589906028.

Posted on: Aug 06, 2018. Tags: HEALTH MUNGELI CHHATTISGARH RAM SINGH VANANCHAL SWARA

« View Newer Reports

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »

Loading

Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download