कृषि में सब्जी के खेती करने के जानकारी दे रहे हैं...

ग्राम-दुलहरा, जिला-अनुपपुर (मध्यप्रदेश) से बाबु लाल नेटी के साथ याग्यवेंद्र पटेल कृषि कार्य (खेती) के बारे में जानकारी दे रहे हैं, वे सभी प्रकार के सब्जी के खेती करते हैं, जिनसे उन्हें लाभ होता है| सब्जी के खेती से वो अपने जीवन यापन करते हैं,| वर्तमान में वे बरबटी के फसल लगाए हुए हैं, जिनसे उन्हें 8-9000प्रति माह कि आमदनी होता है | जिससे वे अपने प्राथमिक खर्चों के साथ घर के काम काज के लिए आसानी से धन राशि प्राप्त हो जाता है| खेती के लिए वे गोबर कि खाद का उपयोग करते हैं, जो बहुत ही लाभदायक होता है| वे सभी साथियों को खेती ठीक तरह से करने का सलाह देते हैं| याग्यवेंद्र पटेल@ 7049457403. (167705) MS

Posted on: Dec 29, 2020. Tags: AGRICULTURE SONG VICTIMS REGISTER

Impact : सीजीनेट में सन्देश रिकॉर्ड करने पश्चात् समस्या का समाधान हो गया...

ग्राम पंचायत -खरगहना, पोस्ट-खुडिया, तहसील-डिंडौरी, जिला-डिंडौरी (मध्यप्रदेश) से सावित्री बाई पति गणेश प्रसाद बता रहे हैं कि उनके पत्नी के नाम में जमीन है लेकिन उन्हें किसान सम्मान निधि योजना का पैसा अब तक नही मिला था वे सम्बधित अधिकारियों के पास कई बार गये थे लेकिन अब तक कोई सुनवाई नही हुआ था, तो ये साथी अपना सन्देश सीजीनेट में रिकॉर्ड करवाया और कुछ दिनों बाद उनके समस्या का समाधान हो गया वे सभी मददगार साथियों को धन्यवाद दे रहे हैं| संपर्क@8959040460.(179158) GT

Posted on: Dec 27, 2020. Tags: AGRICULTURE SONG VICTIMS REGISTER

बस्तर के जंगलो में हर प्रकार की उपयोगी चीजें मिलती है...

ग्राम पंचायत बुरगुम, तहसील-बास्तानार, जिला-बस्तर(छत्तीसगढ़) से मुन्ना गाँव के जंगल के बारे में बता रहे है, जंगल का नाम है तुमिढ़ मेट्टा है जंगल में हर प्रकार का उपयोगी लकड़ी मिलती है घर-पर्निचार बनाने के लिए साल, सागौन ,बांस जंगल से लाते है, जंगल को बचाना चाहिए ताकि आने वाले पीढ़ी को काम आएगा जंगल रहने से ही हमें जीवन जीने का अवसर मिलता है लकड़ी ,फल, फुल, पत्ती,औषधि हमें जंगल से ही मिलता है और जंगल में लोमड़ी ,सियार ,भालू जानवर रहते है| (183047)

Posted on: Dec 25, 2020. Tags: AGRICULTURE

जंगल में कई प्रकार के भाजी मिलता हैं, उसी को खाकर जीवन यापन करते है...(गोंडी में)

ग्राम+पंचायत-बड़ेगुडरा ब्लाक-कटेकल्याण जिला-दन्तेवाड़ा राज्य छत्तीसगढ़ से राजू राम काट्म बता रहें हैं कि जंगल में बहुत प्रकार के भाजी मिलता हैं गोंडी नाम हैं मरदे भाजी ,मिडंगा भाजी ,चेरोटा भाजी ,मूंगा भाजी, एमेल भाजी, कोडेल भाजी और बास्ता फुटू भी मिलता हैं बस्ता मिलता हैं सरगी फुटू मिलता हैं खाने के लिए इस तरह के जंगल से बहुत सारे खाने के मिलते हैं,

Posted on: Nov 06, 2020. Tags: GONDI CULTURE SONG VICTIMS REGISTER

बस्तर के हम आदिवासी लोग जंगल के कंदमूल, तेंदू और चार पर बहुत निर्भर रहते है...

पटेलपारा, ग्राम+पंचायत-मूतनपाल, ब्लाक-बास्तानार, जिला-बस्तर छत्तीसगढ़ से बाबूलाल नेटी के साथ गाँव के साथी सरपंच कोशाराम पोयाम बता रहे है कि उनके पंचायत के अंतर्गत बहुत सारा जंगल है | उनके क्षेत्र के आदिवासी भाई बहन लोग जंगल के कंदमूल तेंदू चार और ऐसे बहुत सारे चीजे जंगल से मिलते है और इन्ही कंदमूल को बुजुर्गो ने अपना जीवन यहाँ बिताया है | महुआ से दारू लड्डू और भी सारी चीजे उससे बनती है ऐसा वे बता रहे है | संपर्क नम्बर@9479225065.

Posted on: Oct 14, 2020. Tags: AGRICULTURE SONG VICTIMS REGISTER

View Older Reports »