गीत : राम जी से पूछाँय जनकपुर की नारी...

ग्राम-खजुराकला, पोस्ट-खजुराकला, तहसील-गुढ़, जिला-रीवा (मध्यप्रदेश ) से विजय कुमार कुशवाहा एक भजन सुना रहे हैं:
राम जी से पूछाँय जनकपुर की नारी-
बता दे क्या हुआ, हो बता क्या हुआ-
ये लोगवा काहे देत गारी रे हो बता क्या हुआ-
तुहरा से पूछूं मै ये धनुषधारी-
एक भाई गोर काहे एक काहे कारी-
बता दे क्या हुआ, हो बता क्या हुआ-
राम जी से पूछाँय जनकपुर की नारी-
बता दे क्या हुआ, हो बता क्या हुआ...

Posted on: Nov 14, 2019. Tags: REWA MP SONG VIJAY KUMAR KUSHWAHA

काये के मानों माता समान...कविता-

ग्राम-राजापुर, पोस्ट-लडवारी, जिला-निवाड़ी (मध्यप्रदेश) से मनोज कुशवाहा एक कविता सुना रहे हैं :
काये के मानों माता समान-
उसी का करलो तुम सम्मान-
उसी का करलो तुम सम्मान-
माता बना देते पहले बान-
अमृत देते है वोह वरदान-
दूध होता होता है अमृत जैसा...

Posted on: Nov 04, 2019. Tags: MANOJ KUSHWAHA MP NIWADI POEM

दीपावली गीत : ये मालिक तेरे बन्दे, हम ऐसे हो हमारे करम...

ग्राम-बरेतीकला, ब्लाक-जवा, जिला-रीवा (मध्यप्रदेश) से दयासागर कुशवाहा एक दिवाली गीत सुना रहें है:
ये मालिक तेरे बन्दे, हम ऐसे हो हमारे करम-
नीति पर चले ओर वदी से तले, ताकि हँसते हुये निकले दम-
ये अँधेरा घाना छा रहा, तेरा इंशान घबरा रहा-
वो बुराई करें हम भलाई भरे, नही बदले की हो भावना-
दिया तुम हमें जब जन्म, तुही झेले गा हम सबके गम-
नीति पर चले ओर वदी से तले ताकि हँसते हुये निकले दम-
ये मालिक तेरे बन्दे हम येसे हूँ हमारे कर्म...

Posted on: Oct 27, 2019. Tags: DYASAGR KUSHWAHA REWA MP SONG

देशभक्ति गीत : मेरे देश की माटी बन गई सोना-

ग्राम-राजापुर, पोस्ट-लडवारी, जिला-निवाड़ी (मध्यप्रदेश) से मनोज कुशवाहा देशभक्ति गीत सुना रहा है:
मेरे देश की माटी बन गई सोना-
दुल्हन सी लागे धरती हमारी-
प्राणों से प्यारी है माता धरती-
नदिया बहती कल-कल करते धरती-
माता के चरणों में रहके-
खेती के दिन पूजा जाता-
माता का दिल भर जाता-
भारत की धरती पर एकता हो जाते-
धन हो जाते, धन हो जाते-
अर्जुन कृष्णा राम की भूमि-
भारत की भूमि है स्वर्ग के सुन्दर-
इस पर जन्में मनु और मनिंदर...

Posted on: Oct 02, 2019. Tags: MANOJ KUSHWAHA NIWARI MP

तोता तोता दिया हुंकारा, अमर कथा न सुनी हुमायु, सोच रहे हुंकारा...गीत-

ग्राम-राजापुर, पोस्ट-लड़वारी, जिला-टीकमगढ (मध्यप्रदेश) से मनोज कुशवाहा एक गीत सुना रहे हैं:
तोता तोता दिया हुंकारा, अमर कथा न सुनी हुमायु-
सोच रहे हुंकारा-
अविनासी के नासी कासी अपनी अलख बताई थी-
बैठ गुफा में गोरा जी अमर कथा सुनाई थी-
आज यहां पर कोण तीसरा, गोरा इस वक्त आया है-
चढ़ा क्रोध जब शंकर जी को, कर त्रिशूल उठाया है...

Posted on: Mar 12, 2019. Tags: MANOJ KUSHWAHA MP SONG TIKAMGARH

View Older Reports »

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »

Loading

Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download