आना ओ बईठ ले, आना ओ बईठ ले...छत्तीसगढ़ी गीत-

ग्राम-सिंगपुर, तहसील-पंडरिया, जिला-कबीरधाम (छत्तीसगढ़) से हेमसिंह मरकाम एक छत्तीसगढ़ी गीत सुना रहे हैं :
आना ओ बईठ ले, आना ओ बईठ ले-
आये रानी तै पानी भरे ओ-
आगू बढ़ेला तोर बाप ला डरे ओ-
दुनिया के मोला नहीये फिकर ओ-
दगा झन देबे मोला-मोला-
आना ओ बईठ ले, आना ओ बईठ ले...

Posted on: Jun 09, 2019. Tags: CG HEMSINGH MARKAM KABIRDHAM SONG

मान मेरा कहना नहीं तू पछतायेगा...कविता-

ग्राम-सिंघपुर, तहसील-पंडरिया, जिला-कबीरधाम (छत्तीसगढ़) से हेमसिंह मरकाम एक कविता सुना रहे हैं :
मान मेरा कहना नहीं तू पछतायेगा-
मिट्टी का खिलौना है, मिट्टी में मिल जायेगा-
मात पिता तेरे खुद मै कभी न-
विपदा परे-परे कोई न किसी का-
एक दिन हंसा अकेला उड़ जायेगा-
मिट्टी का खिलौना तो मिट्टी में मिल जायेगा...

Posted on: Jun 08, 2019. Tags: CG HEMSINGH MARKAM KABIRDHAM POEM

जोड़, घटाव, गुणा मै खोजू, अथवा खोजू शेष में...कविता-

ग्राम-सिंगपुर, तहसील-पंडरिया, जिला-कबीरधाम (छत्तीसगढ़) से हेमसिंह मरकाम एक कविता सुना रहे हैं :
जोड़, घटाव, गुणा मै खोजू, अथवा खोजू शेष में-
सत्य अहिंसा खोज रहा हूँ, गांधी जी के देश में-
मेरे प्यारे देश बता दे गांधी जी का देश कहां-
तुम्ही बताओ क्या करना है आज के इस परिवेश में-
जहां भूखे नंगे रहते हों, क्या गांधी जी का देश यही-
घोटालो का चोंच मरता क्या गांधी जी का देश यही...

Posted on: Jun 08, 2019. Tags: CG HEMSINGH MARKAM KABIRDHAM POEM

जन गण मन अधिनायक जय हे भारत भाग्य विधाता...राष्ट्रगान

ग्राम-मारमा, पोस्ट-केश्नानगर धमनी, जिला-बलरामपुर, (छत्तीसगढ़) से मीना यादव एक राष्ट्रगान सुना रही है:
जन गण मन अधिनायक जय हे भारत भाग्य विधाता-
पंजाब सिन्ध गुजरात मराठा द्राविड़ उत्कल बंग-
विन्ध्य हिमाचल यमुना गंगा उच्छल जलधि तरंग-
तव शुभ नामे जागे, तव शुभ आशिष मागे-
गाहे तव जय गाथा-
जन गण मंगलदायक जय हे भारत भाग्य विधाता-
जय हे, जय हे, जय हे, जय जय जय जय हे...

Posted on: May 24, 2019. Tags: ANTHEM BALRAMPUR CG NATIONAL

गाँव के अलग-अलग समितियों द्वारा होने वाले कार्यों की निगरानी गठित समीति द्वारा ही किया जाता है...

ग्राम-सिंगपुर, तहसील-पंडरिया, जिला-कबीरधाम, (छत्तीसगढ़) से हेम सिंह मरकाम अपने गाँव के अलग-अलग समितियों द्वारा होने वाले कार्यों को बता रहे हैं, कि उनके गाँव में कई समितियों का गठन किया गया है| जो समीति द्वारा गठित प्रयोजनाओं के अनुरूप काम करती है, जैसे बड़े कोष (बड़े समीति) यह ग्राम में बने सभी समितियों का निरीक्षण करती है| नवधा समीति यह आवक-जावक के कार्य करती है| सवनाही समीति ये सावन के आने के पहले बैठक करके सुनिश्चित करते हैं कि सावन के दौरान कितना आवक-जावक-बचत इसकी निगरानी करती है| सप्ताहिक समीति यह समीति यह तय करती है सप्ताह के अंतिम दिन रविवार को रामायण का आयोजन करती है| सुआरी समीति (खाना बनाना) यह समीति खाना बनाने के काम करती है साथ ही खाना बनाने में उपयोग आने वाले बर्तनों को भी किराया में देते हैं |

Posted on: May 18, 2019. Tags: CG HEMSINGH MARKAM KABIDHAM PANDARIYA

View Older Reports »

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »

Loading

Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download