तमकी कर गांव में, आमा कर छांय में...डोमकच्छ गीत-

ग्राम पंचायत-तमकी, ब्लाक-ओडगी, जिला-सूरजपुर (छत्तीसगढ़) से रजमनिया और कैलसिया एक डोमकच्छ गीत सुना रहे हैं :
तमकी कर गांव में, आमा कर छांय रे-
आमा कर छांय रे, आए न नीलम दीदी हमार गांव में-
टमकी कर गांव में, आमा कर छांय में-
आमा कर छांय रे, आए न नीलम दीदी हमार गांव में...

Posted on: Feb 13, 2019. Tags: CG DOMKACH SONG GEETA TEKAAM SURAJPUR

2015 में मनरेगा के तहत काम किये थे उसका कुछ पैसा अभी तक नहीं मिला, मांगने पर नहीं देते...

सीजीनेट जनपत्रकारिता यात्रा आज पारा कठौतिया ग्राम-ठेंगाडांड, विकासखंड-गौरेला, जिला-बिलासपुर (छत्तीसगढ़) पहुँची है वहां से गीता टेकाम के साथ हैं गाँव के साथी प्रताप सिंह और रतन सिंह जो बता रहे है कि नवम्बर-दिसंबर 2015 में रोजगार गारंटी के तहत भूमि समतलीकरण के काम में लगभग 70 मजदूरो ने काम किया था, उसमें से 4-5 हितग्राहियो का 1-1 हफ्ते का पैसा नहीं मिला है इसके लिए इन्होने ग्रामसभा एवं जनपद पंचायत में C.E.O. के पास 3-4 बार आवेदन दिया है लेकिन अभी तक कोई सुनवाई नहीं हुई है इसलिए वे सीजीनेट सुनने साथियों से मदद की अपील कर रहे है कि कृपया इन अधिकारियों पर फोन कर दबाव डालें: C.E.O.@7387673744, कलेक्टर@9425268102.

Posted on: May 30, 2017. Tags: GEETA TEKAAM

आमा जामुन की दो डाल बन्नी झूलते चली...शादी गीत

ग्राम-सल्य्याकला, पोस्ट-सावरी बाजार, तहसील-मोहखेड़, जिला-छिन्दवाडा (मध्यप्रदेश) से संगीता धुर्वे एक बन्ना गीत सुना रहे हैं:
आमा जामुन की दो डाल बन्नी झूलते चली-
पायल लाया रे सुनार कड़ी टूटते चली –
कगना लाया रे सुनार कड़ी टूटते चली-
हरवा लाया रे सुनार कड़ी टूटते चली...

Posted on: Apr 30, 2017. Tags: SANGEETA DHURWE

शंकर मार मचाई जहा मैया लडे है...देवी गीत

ग्राम-भोलगढ़, पोस्ट-पसला, जिला, अनूपपुर (मध्यप्रदेश) से सावित्री पटेल एक देवी गीत सुना रही हैं:
शंकर मार मचाई जहा मैया लडे है-
पहले लडे है बनिया दुकनिया – नारियल मार मचाई जहा मैया लड़े है-
कंकड़ मार मचाई जहा मैया लडे है – दूसरो लडे है कुम्हरा दुकनिया कलशा मार मचाई…

Posted on: Mar 29, 2017. Tags: GEETA TEKAM

आजादी की खुली हवा में निकले सीना तान के, हम बालक हिन्दुस्तान के...गीत

गीता टेकाम सीजीनेट जन पत्रकारिता जागरूकता बुल्टू रेडियो यात्रा में जिला-अनूपपुर, (मध्यप्रदेश) से बोल रही हैं और आज उनके साथ है एक बालक अरुण सिंह जो एक देशभक्ति गीत प्रस्तुत कर रहे है:
आजादी की खुली हवा में, निकले सीना तान के-
बालक हिन्दुस्तान के-
जिस मिट्टी में अंकुर है हम, उनकी शान निराली है-
उसके खेत में सोना है, बागों में हरियाली है-
आजादी की खुली हवा में, निकले सीना तान के...

Posted on: Mar 26, 2017. Tags: GEETA TEKAM

View Older Reports »

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »

Loading

Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download