IMPACT: राशनकार्ड के लिए संदेश रिकार्ड करने के एक महीने के अंदर निराकरण हुआ...

बिरपाल, ग्राम इंद्रोडा, जिला खरगोड़ा उनका राशनकार्ड बना था लेकिन उनको राशन नहीं मिल रहा था। नहीं मिलने के कारण बहुत परेशानी होती थी। फिर उन्होंने सीजीनेट में शिकायत दर्ज किया फिर उनको राशन मिल रहा है। इसलिए सीजीनेट साथियों को धन्यवाद दे रहे हैं।

Posted on: Jun 26, 2022. Tags: IMPACT INDAUDA KHARGODA UP

पीड़ितो का रजिस्टर:2005 सलवा जुडूम डर के कारण छत्तीसगढ़ से आंध्र प्रदेश में विस्थापित है आंध्र प्रदेश

ग्राम-कोत्तुर, ब्लॉक-चिंतुरु, जिला-ईस्ट गोदावारी (आंध्र प्रदेश) से सोडी हिडमैया बता रहे है, कि उनके गाँव में 26 घरों का बस्ती है, वे लोग 2005 सलवा जुडूम डर के कारण छत्तीसगढ़ से आंध्र प्रदेश में विस्थापित है| उन्हें आंध्र प्रदेश सरकार ने कुछ मदद नहीं कर रही हैं|और उनके खेतो को कब्सा कर पौधारोपण लगाया गया है,अब उन आदिवासियों को घर तक बनने कि जमीन नहीं है| ग्रामीणों का कहना है कि आंध्र प्रदेश सरकार द्वरा उन आदिवासियों कि जमीन पट्टा बनवा दिया जाये तो उनके लिए मदद हो सकता इसलिए साथी सीजीनेट सुनने वाले श्रोताओ से मदद कि अपील कर रहे है,अधिक जानकारी के लिए इस नंबर पर बात कर सकते है| संपर्क नंबर@7989673679

Posted on: Feb 12, 2022. Tags: CHINTURU EAST DISPLACED GODAVARI (AP) GONDI IDP POLICE REGISTER VICTIMS VICTIM

पीड़ितों का रजिस्टर: सलवा जुडूम के समय से छत्तीसगढ़ छोड़कर जमीन के लिए आंध्रप्रदेश आयें...

ग्राम-तेल्लापल्ली एर्रगोडा, पंचायत-रामवरम, ब्लाक-वेलेरूपाडू, जिला-वेस्ट गोदावरी(आंध्रप्रदेश) से बिरदु उन्गाराम बात कर रहे हैं छत्तीसगढ़ में ग्राम-तेवरसी पटेल पारा ,पंचायत-कुकानार,ब्लाक-चिन्द्गड़,जिला-बस्तर से सलवा जुडूम संगठन से पहले ज़मीन के लिए आये थे| गाँव में बिजिली और पानी की सुविधा नहीं है, 15 घर की बस्ती है, वहाँ के लोगों को 5 किलोमीटर दूर से पानी लाना पड़ता है| गाँव में पानी की दिक्कत बहुत ही है, और न ही उन्हे जमीन को पट्टा मिला| इसके लिए उन्होंने सरकार से मदद की अपील कर रहे हैं की जमीन का पट्टा और पानी का समस्या को दूर किया जाए| अधिक जानकारी के लिए संपर्क नंबर@7893696837.

Posted on: Feb 05, 2022. Tags: AP DISPLACED GODAVARI IDP VELERUPADU VICTIMS REGISTER WEST

गाँव में रोड की समस्या है, बोलने पर भी ध्यान नहीं दे रहे हैं कृपया मदद करें...

ग्राम-चिपुरपाड़, पंचायत-पेद्दा रायगुडेम ,ब्लाक-कुख्लूर, जिला-एलूर गोदावरी (आंध्रप्रदेश) से राम्मा माड़ा बता रहे हैं कि उनके गाँव में रोड की समस्या है| तबीयत खराब होने से एम्बुलेंस नहीं आ पाती है, तो मरिंजो को हॉस्पिटल ले जाने में दिक्कत होता है| उनके गाँव से कम से कम दो या तीन किलोमीटर दूर पैदल जाना पड़ता है, रोड बनवाने के लिए कलेक्टर को कई बार आवेदन किये है| पर कोई ध्यान नहीं दे रहे हैं, अधिक जानकारी के लिए इस नंबर पर बात कर सकते हैं| संपर्क नंबर@8179933802.

Posted on: Jan 29, 2022. Tags: ANDHRA ELURGODAVARI PRADESH PROBLEM RAMMA ROAD

कैसे इंद्रावती नदी हुई मिचनार से दूर, क्यूँ पड़ा पहाड़ का नाम मगर पकना, जानिए लोक कथाओं से...

महादेव कश्यप पर्यटकों और श्रद्धालुओं का आकर्षण केंद्र बने रहने वाले मिचनार के प्रसिद्ध मंदिर के पुजारी हैं जो कि ग्राम पंचायत- मिचनार नं. 1, ब्लॉक- लोहांडीगुड़ा, जिला- बस्तर, छत्तीसगढ़ में रहते हैं। वे मिचनार के मगर पकना पहाड़ और इंद्रावती नदी से जुड़ी लोक कथा बता रहे हैं। राजा राहूण, जिनको आदिवासी देवों के राजा मानते हैं, की सभा पहाड़ पे लगती थी। मान्यता है कि जब कालाहांडी से इंद्रावती नदी का उद्गम हुआ, तो एक दैवीय मगर नदी को मिचनार के तरफ दिशा दे रहा था। राजा राहूण की सभा ने यह निर्णय किया की नदी को वहाँ आने से रोकना होगा ताकि तहस नहस होने से बचाया जा सके। राजा राहूण के निर्देश पे उनके सिपाही ने उस दैवीय मगर का वध कर के नदी का रुख मोड़ दिया। इसी कारण आज इंद्रावती नदी मिचनार से ना हो के चित्रकोट से बहती है। और भी कई रोचक कथाएँ सुना रहे हैं महादेव जी...

Posted on: Oct 25, 2021. Tags: CHITRAKOT DEITY FOLKLORE GOD INDRAVATI KALAHANDI MICHNAR

View Older Reports »

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »


YouTube Channel




Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download