पो या नो नो नाले रानडे पो यो पोया...गोंडी हुलकी गीत

ग्राम-मासनंदी, तहसील-धनोरा, जिला-गढ़चिरौली, महाराष्ट्र से सुनील सलाम गाँव की महिलाओं द्वारा गाए जा रहे गोंडी गीत की रिकॉर्डिंग कर रहे हैं. आदिवासी समाज में यह गीत हुलकी नृत्य करते हुए दीपावली के अवसर पर गाया जाता है:
बचम पड़े पायो नारम गेले-
पो या नो नो नाले रानडे पो यो पोया-
बारिम-बारिम बुडिया नो नोम ना ले...

Posted on: Jul 14, 2018. Tags: SUNIL SALAM

रेलगाड़ी करती छुक-छुक-छुक...बाल कविता

ग्राम-कुर्केल, पंचायत-रामपुर, प्रखंड-चैनपुर, जिला-गुमला (झारखण्ड) सान्या टोप्पो और सलमा कुमारी जो तीसरी और चौथी कक्षा की छात्राएं है वे लोग एक कविता सुना रहे हैं:
रेलगाड़ी करती छुक-छुक-छुक-
लम्बू कहता रुक-रुक-रुक-
डिब्बा कहता घुस-घुस-घुस-
लम्बू चढ़ गया छुक छुक छुक-
इंजान बोला फूक फूक-फूक-फूक-
गाडी चल दी छूक-छूक-छूक-
आगे थी एक भैंस खड़ी-
गाडी से वो नहीं डरी-
गाड़ी रुक गयी छु चल-
भैंस गिर पड़ा धम-धम-
लम्बू था नटखट उतर के-
भागा टिक-टिक-टिक-
आगे जा कर पकड़ा गया-
बिना टिकट के मजा आ गया...

Posted on: Jul 12, 2018. Tags: KAVITA SAANAYA TOPPO SALAMA KUMARI

हमारे अलवरखुर्द गांव से कैसे दूसरा गांव अलवरकला बना...एक गाँव की कहानी

ग्राम-अलवरखुर्द, पंचायत-सोनेकान्हार, तहसील-भानुप्रतापपुर, जिला-उत्तर बस्तर कांकेर (छत्तीसगढ़) से सुखलाल सलाम बता रहे हैं कि पहले अलवरखुर्द और अलवर कला एक ही गांव था लेकिन बाद में दोनों को अलग कर दो गांव बना दिया गया उनका कहना है कि 1945 से पहले वहां मुस्लिम परिवार रहता था इन लोगो ने उस जगह का नाम अलवर खुर्द रखा था, लेकिन फिर वे चले गए, और अब वहां पूरी आदिवासी बस्ती है. कई वर्ष पूर्व गांव के एक व्यक्ति ने अपनी बेटी की शादी की और गांव को अलग कर अपनी बेटी को दहेज़ में दिया जिसका नाम अलवरकला पड़ा तब से वहां दो गांव है| अंकित पडवार@9993697650.

Posted on: Jun 20, 2018. Tags: SUKHLAL SALAM

हैलो मुख्यमंत्री महोदय ! ये आपके शासन की पुकार है...कविता

ग्राम-बन्देली, तहसील-केवलारी, जिला-सिवनी, मध्यप्रदेश से राजेन्द्र सिंह सलाम भ्रष्टाचार के सन्दर्भ में एक कविता प्रस्तुत कर रहे हैं:
हैलो मुख्यमंत्री महोदय ! ये आपके शासन की पुकार है-
कोर्ट-कचहरी दफ्तर पर पैसों की भरमार है-
अगर जेब में नहीं हैं पैसे तो बाबू की कलम बीमार है-
हाल जानिए मुख्यमंत्री महोदय, आपके इस देश का-
चूहों के पेट में है अनाज देश का...

Posted on: Jun 07, 2018. Tags: RAJENDRA SINGH SALAM

रे ला रे रे रे ला रे रे रे लयों रे रे रे रे ला रे रे रे रे ला...गोंडी विवाह गीत

ग्राम-भुर्सेवाड़ा, तहसील-भामरागढ़, जिला-गढ़चिरौली, महाराष्ट्र से गाँव की युवक-युवतियां गोंडी गीत गा रही हैं, आदिवासी समाज में यह गीत शादी के समय गाया जाता है:
लाल गरज पन्स्ची मंतोर पंक यान्जुड़ वो-
रे ला रे रे रे ला रे रे रे लयों रे रे रे रे ला रे रे रे रे ला...

Posted on: May 30, 2018. Tags: SUNIL SALAM

View Older Reports »

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »

Loading

Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download