हर साल राईटर शुल्क मिलाता था, लेकिन इस बार नहीं मिला...मदद की अपील-

ग्राम-धुमा, पोस्ट-बगहूँ, तहसील-चुरहट, जिला-सीधी (मध्यप्रदेश) से अश्वनी कुमार पटेल बता रहे हैं| उन्होंने हाल ही में 10वी कक्षा का परीक्षा दिया है| वे नेत्रहीन हैं| जिसके कारण परीक्षा में उन्हें राईटर लगाना पड़ता है| जिसका शुल्क उन्हें देना होता है| जो शासन द्वारा दिया जाता है| लेकिन इस बार उनको राईटर शुल्क नहीं मिला है| जिसके लिये उन्होंने सी.एम हेल्पलाईन में शिकायत (शिकायत नंबर@8216972) किया| लेकिन कोई सुनवाई नहीं हो रही है| इसलिये वे सीजीनेट के साथियों से अपील कर रहे हैं, कि दिये गये नंबरों पर बात कर समस्या का निराकरण करने में मदद करें : संपर्क नंबर@9098148101.

Posted on: Jun 14, 2019. Tags: ASHWANI KUMAR PATEL MP PROBLEM SIDHI

आज नहीं तो कल यह दुनिया बदलेगी...गीत

ग्राम-रिमारी, जिला-सीधी (मध्यप्रदेश) से लालजी वैश्य एक गीत सुना रहे है:
आज नही तो कल यह दुनिया बदलेगी-
बदलेगी नीचे दुनिया हो गये धरती और आकाश यही-
अग्नि वायु जल का होगा अभ्यास यही-
सूरज चाँद सितारे ऐसे ही होंगे-
दूसरे जगत से तारे ऐसे ही होंगे-
केवल दृष्टि बदल जायेगी मानव की मन होगा निर्मल-
यह दुनिया बदलेगी उन्नति नही रुकेगी...

Posted on: Aug 28, 2018. Tags: HINDI SONG LALJI VAIDYA MP SIDHI

इंसान से नफरत करते हो, भगवान को तुम क्या पाओगे...कविता-

ग्राम-रिमारी, जिला-सीधी (मध्यप्रदेश) से लालजी वैश्य एक कविता सुना रहे हैं :
इंसान से नफरत करते हो भगवान को तुम क्या पाओगे-
इंसान को तुन अपना ना सके भगवान को क्या पाओगे-
इंसान प्रभु का बंदा है नफरत ही नरक का फंदा है-
इन्सान को धोखा देकर के भगवान को तुम झुठलाओगे-
इंसान की इज्जत करना ही भगवान की पूजा होती है-
इंसान को अपमानित करते, प्रभु को न मान दे पाओगे-
खुद अपने दोष छुपाते हो, औरो को दोष लगाते हो...

Posted on: Aug 13, 2018. Tags: LALJI VAISHYA POEM SIDHI MADHYA PRADESH

जिसकी सांसे और पसीना जन हित में लग जाए, वही वीर मेरी राखी बंधवाने हाथ बढाए...राखी गीत-

ग्राम पंचायत-रिमारी, जिला-सीधी (मध्यप्रदेश) से लालजी वैश्य रक्षाबंधन के अवसर पर एक देशभक्ति कविता सुना रहे हैं:
जिसकी सांसे और पसीना जन हित में लग जाएं-
वही वीर मेरी राखी बंधवाने हाथ बढाए-
जो युग की पीड़ा को समझे और जरूरत जाने-
फिर उठ के अनुरूप जगत को गति देने की ठाने-
जिसका जीवन नवल कुजनकी, आज्ञा हित बन जाए-
जो अपने कामो से जोड़े, जिसकी लिखी लकीरें...

Posted on: Aug 09, 2018. Tags: LALJI VAISHYA SIDHI MADHYA PRADESH SONG

इंकलाब का परचम खोल आज बना ले आपना बोल...कविता-

ग्राम पंचायत-रिमारी, जिला-सीधी (मध्यप्रदेश) से लालजी वैश्य एक कविता सुना रहे हैं:
इंकलाब का परचम खोल, आज बना ले अपना बोल-
अपनो ने ली तेरी जान, तू अपनी ताकत पहचान-
जय जवान और जय किसान, यह नारा मिलकर बोल-
मत सह चुप रहकर अन्याय, समझ ना अपने को निर उपाय-
तोड़ ये बेबसी की जंजीर, तू ही देश की है तकदीर-
अपना खून पसीना तौल, मेहनत का ले पूरा मोल...

Posted on: Aug 08, 2018. Tags: LALJI VAISHYA PRADESH SIDHI MADHYA

View Older Reports »

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »

Loading

Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download