रोपा जगावे खड़े खड़े बान बीरा मारे बर...रोपा गीत-

ग्राम पंचायत-डिज़ावल, विकासखण्ड-प्रतापपुर, जिला-सूरजपुर (छत्तीसगढ़) से दुरपतिया और शांति एक रोपा गीत सुना रहे हैं:
रोपा जगावे खड़े खड़े बान बीरा मारे बर-
मोर नदिया हरे डोंगा ला-
सांगी किसान गजरा गिडा मारे बर-
मोर नदिया भरे डोंगा ला...

Posted on: Feb 27, 2019. Tags: CG PRATAPPUR SHANTI SONG SURAJPUR

चारो सखी मिलिन गईने बजरिया, दुईरे खड़ी दुयो होगिन गली...डोमकच्छ गीत-

ग्राम पंचायत-ओमझर, विकासखण्ड-ओडगी, जिला-सूरजपुर (छत्तीसगढ़) से शांति बाई अपने सखियों के सांथ एक डोमकच्छ गीत सुना रहे हैं:
चारो सखी मिलिन गईने बजरिया-
दुईरे खड़ी दुयो होगिन गली-
चारो सखी मिलिन गईने बजरिया-
दुईरे खड़ी दुयो लेवय जलेबिया-
चारो सखी मिलिन गईने बजरिया...

Posted on: Feb 25, 2019. Tags: CG ODGI SHANTI BAI SONG SURAJPUR

माटी होही तोर चोला रे संगी...छत्तीसगढ़ी गीत-

ग्राम-रामनगर, पोस्ट-महेवा, जिला-बलरामपुर (छत्तीसगढ़) से कुमारी शांती एक छत्तीसगढ़ी गीत सुना रही हैं :
माटी होही तोर चोला रे संगी – माटी से उपजे माटी मा बढ़े माटी मा मिलना है तोला – माटी के घर मा माटी के भुईयां – लाख जतन करे माटी के दुनिया – बड़े मन के नई बाचिस कौन कहे अब तोला – चारेच दिन के सुघर मेला आखिर में सब माटी के ढेला...

Posted on: Feb 23, 2019. Tags: KUMARI SHANTI

रे रे लोयो रे रेला, राला रे रेला, वायकी वायकी वेलो सा वार गोटू दे...गोंडी गीत-

ग्राम-जनकपुर, पंचायत-परवी, तहसील-भानुप्रतापपुर, जिला-कांकेर (छत्तीसगढ़) से शांति टेकाम अपने सांथी रैमुतीन, कौसिल्या, कमला ताराम और बिंदेश्वरी के सांथ एक रेला गीत सुना रही हैं, जिसमे वे अपने जीवन शैली का वर्णन कर रहे हैं :

रे रे लोयो रे रेला, राला रे रेला- वायकी वायकी वेलो सा वार गोटू दे- निया नवा पोरोय नाय नाड़ गोटू दे- गोडल मर्स पोया न वली दाय न- अद मावा जिंदगी रंड दिया न...

Posted on: Nov 01, 2018. Tags: ) CG KANKER SHANTI TEKAM

शांति पदयात्रा बस्तर और यहां के आदिवासियों के लिए बहुत ज़रूरी है, इसमें सभी को जुड़ना चाहिए...

नया रायपुर (छत्तीसगढ़) से उत्तम आतला परलकोट, बस्तर संभाग, जिला-कांकेर के सांथी सुरेश कुमार कतलामी से 2 अक्टूबर 2018 को होने वाली शांति पदयात्रा पर चर्चा कर रहे हैं, वे अपनी गोंडी भाषा में बता रहे हैं कि महात्मा गाँधी के जन्म दिन पर शुरू होने वाली शांति पदयात्रा जो आंध्र के चट्टी गाँव से शुरू होगी और 12 अक्टूबर को बस्तर संभाग के मुख्यालय जगदलपुर तक आएगी वह पूरे बस्तर क्षेत्र और आदिवासी समाज के लिए बहुत अच्छा और बहुत जरुरी है, ये बस्तर के आदिवासियों और बस्तर क्षेत्र में शांति की पहली पहल है, इससे क्षेत्र की समस्याएं हल हो सकती है, बस्तर में आज जो अशांति है लोग उसे तोड़कर बाहर आना चाहते हैं, इसमें ज़्यादा से ज्यादा लोगो को जुड़ना चाहिए |

Posted on: Sep 25, 2018. Tags: CG PADYATRA PEACE RAIPUR SHANTI UTTAM ATALA WALK

View Older Reports »

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »

Loading

Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download