5.6.31 Welcome to CGNet Swara

ओरा बोरा मरमा दाई काको सोडे...गोंडी विवाह गीत

ग्राम-मंगता सालेभट्ट, तहसील-अंतागढ़, जिला-कांकेर (छत्तीसगढ़) से सपना वट्टी के साथ सयेको बाई, जगमी और पार्वती एक गोंडी विवाह गीत सुना रहे है:
रे राला रे लोयो रे राला रे रालाय-
ओरा बोरा मरमा दाई काको सोडे-
हिंगना का बुंगना रो सोये-
रे राला रे लोयो रे राला रे रालाय...

Posted on: Sep 10, 2018. Tags: CHHATTISGARH GONDI JAGMI KANKER MARRIAGE PARWATI SAIYKO BAI SONG

अग्गा रे बोगढा चूड़ी रोय नुनी...गोंडी गीत

ग्राम-आमाखाडा, पंचायत-केलेप्रस, तहसील-अंतागढ, जिला-उत्तर बस्तर कांकेर (छत्तीसगढ़) से सुभाय, फूलबती और रजनीबाई एक गोंडी गीत सुना रहे है
री री लो री लो री री लो री लो री लोय-
अग्गा रे बोगढा चूड़ी रोय नुनी-
अग्गा रे बोगढा चूड़ी रोय-
सेयु रे संवार साटुम रोय नुनी-
सेयु रे संवार साटुम रोय-
नुनी सेयु रे संवार साटुम रोय....

Posted on: Sep 10, 2018. Tags: CHHATTISGARH FULBATI GONDI KANKER RAJNI BAI SONG SUBHAAY

कसूर घूटे पराड येलो दुवार तूने नेराड़ा हो...गोंडी गीत

ग्राम-पिंडकसा, पंचायत-कुरेनार, तहसील-पखांजूर, जिला-उत्तर बस्तर कांकेर (छत्तीसगढ़) से मोंगरी, सोगीबाई, रतोबाई और पोलोबाई गोंडी भाषा में एक गीत सुना रहे हैं:
रे रे लोयो रेला रेला रे रे लोयो रेलाय हो-
कसूर घूटे पराड येलो-
दुवार तूने नेराड़ा हो-
जाति बाती पेकोर हो-
जाति बाती पेकोर-
कसूर घूटे पराड येलो-
दुवार तूने नेराड़ा हो...

Posted on: Sep 06, 2018. Tags: CG GONDI KANKER MOGRI PAKHANJUR RATOBAI SOGIBAI SONG

हम लोगों ने चिड़िया जैसे उड़ते हेलीकॉप्टर को तो देखा है पर कभी ट्रेन नहीं देखा है (गोंडी भाषा में)...

आज के आधुनिक युग में कई यातायात के साधन है लेकिन मेकावाही गाँव की महिलाओं ने हेलीकाप्टर को उड़ते हुए तो देखा है लेकिन ट्रेन नहीं देखा है। मोहन यादव आज सीजीनेट जन पत्रकारिता यात्रा के साथ ग्राम-मेकावाही, पंचायत-शंकरनगर, ब्लाक-कोयलीबेडा, जिला-कांकेर (छत्तीसगढ़) पहुंचे हैं वहां की महिलाएं सीताबाई, हिन्दूबाई और पन्नोबाई गोंडी में उनको बता रही है कि वे लोग आज तक कभी ट्रेन नहीं देखे है न ही बैठे है कैसा रहता है वो भी उनको मालूम नहीं है वे लोग बस, कमांडर और ऑटो में सिर्फ बैठे है | आज के आधुनिक युग में कई यातायात के साधन है लेकिन मेकावाही गाँव की महिलाये बता रही है कि नजदीक से न तो हेलीकाप्टर को देखे है न ही ट्रेन को देखे है

Posted on: Sep 04, 2018. Tags: CG CHANNOBAI GONDI HINDUBAI KANKER KOELIBEDA SEETABAI

हम 14 घर के बैगा आदिवासी नदी में गड्ढा खोदकर गन्दा पानी लाकर पीते है, एक भी हैंडपंप नहीं है...

ग्राम-भैसाडबरा, पंचायत-डालामहुआ, विकासखण्ड-पंडरिया, जिला-कबीरधाम (छत्तीसगढ़) से सुख सिंह बैगा मिथलेश मानिकपुरी को बता रहे है कि उनके मोहल्ले में 5 साल से पानी की बहुत समस्या है | उनके मोहल्ले में भी एक भी हैण्डपम्प नहीं है वे लोग नदी में झिरिया खोदकर गंदा पानी लाकर पीते है 14 घर का बस्ती है उसके लिए उन्होंने सचिव, सरपंच के पास आवेदन किये थे लेकिन आज तक कोई सुनवाई नही हुई | इसलिए साथी सीजीनेट के साथियों से मदद की मांग कर रहे है कि इन नम्बरों में बात कर एक हैण्डपम्प लगवाने में मदद करें: सरपंच@9893472740, P.H.E@9893883154. मिथलेश मानिकपुरी@8964973228

Posted on: Sep 02, 2018. Tags: CG CHHATTISGARH KABIRDHAM SUKHSINGH BAIGA WATER

View Older Reports »

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »


Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download


From our supporters »