मै कैसे बखानो कलजुग के महिमा अपार...गीत-

ग्राम-फरसपानी,जिला-कोरबा (छत्तीसगढ़) से संजीव कुमार केवट गीत सुना रहे हैं:
ये हो कलजुग के महिमा अपार-
मै कैसे बखानो कलजुग के-
महिमा अपार-
जियत बाप ला कंवरा नई देवयें-
मरे मा गंगा ले जा थिन-
पितर पाख ला सब झन मानये...(AR)

Posted on: Apr 08, 2021. Tags: CG KEWAT KORBA SANJIV KUMAR SONG

इतना बदल गईलू कि यकीन न होला ओ...भोजपुरी गीत-

गया, बिहार से संजीव कुमार एक भोजपुरी गीत सुना रहे हैं, जिसके बोल हैं, “इतना बदल गईलू कि यकीन न होला ओ” | अपने गीत, संदेश रिकॉर्ड करने के लिये 08050068000 पर मिस्ड कॉल कर सकते हैं|

Posted on: Mar 21, 2021. Tags: BIHAR GAYA SANJIV KUMAR SONG

पिछले साल मई-जून से बिजली का ट्रांसफार्मर जल गया है, शिकायत करने पर कोई सुनते नहीं है...

ग्राम, पोस्ट-रामगढ़, जिला-कोरिया (छत्तीसगढ़) से संजीव कुमार सिंह बता रहे हैं कि उनके गाँव गुड टोला का बिजली ट्रांसफ़ॉर्मर पिछले साल मई-जून महीने से जल गया है, जिसके लिये उन्होंने आवेदन दिया था लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई है और कोई बिजली कर्मचारी भी देखने नहीं आया | इसलिये साथी सीजीनेट के श्रोताओं से मदद की अपील कर रहे हैं कि सम्बंधित अधिकारियो से बात करके बिजली का ट्रांसफार्मर लगवाने में मदद करें : संपर्क नंबर@7354982032. J.E@6262045312. बिजली कर्मचारी@9753602031. (AR)

Posted on: Jun 23, 2020. Tags: CG KOREYA ELECTRICITY PROBLEM SANJIV KUMAR SINGH SONG VICTIMS REGISTER

दिसम्बर 2016 का मनरेगा का मटेरियल भुगतान जनपद पंचायत दंतेवाडा द्वारा अब तक नहीं हुआ है...

स्कूलपारा, ग्राम-धुरली, ब्लॉक एवं जिला-दंतेवाडा (छत्तीसगढ़) से अनिल मुचागी के साथ में संजीव कुमार बता रहे है कि पिछले वर्ष दिसम्बर 2016 का मनरेगा का मटेरियल भुगतान जनपद पंचायत दंतेवाडा द्वारा उनके गाँव में नहीं हुआ है| उनका आरोप है कि इसका कारण रोजगार सहायक सचिव की लापरवाही है इसके कारण हम गाँव के लोगो को बहुत परेशानी हो रही है कई अधिकारियों से मदद माँगी पर कुछ भी नहीं हो रहा है इसलिए साथी मदद की अपील कर रहे है कि इन अधिकारियो से बात कर मनरेगा का मटेरियल भुगतान के पैसे दिलवाने में मदद करें : सहायक रोजगार सचिव@9407636081, C.E.O.@9479068216. अनिल मुचागी@7049093806.

Posted on: Nov 30, 2017. Tags: SANJIV KUMAR SONG VICTIMS REGISTER

मुझे घर नहीं बिन सहारो का, बस तेरा सहारा काफी हैं...गीत

जिला-मुजफ्फरपुर (बिहार) से संजीव कुमार दीवाना एक गीत सुना रहे हैं:
मुझे घर नहीं बिन सहारो का,बस तेरा सहारा काफी है-
मझधार में डूबने वालो को एक तेरा किनारा काफी है-
बन-बन के सहारे टूटते हैं, हिरासत पुरानी है जग की-
टूटे न कभी छूटे न कभी बस तेरा सहारा बाकी है-
बिना रिश्वत और सिफारिश से कोई काम नहीं बन सकता है-
बिगड़ी संवर जाने के लिए एक तेरा ही सहारा काफी है...

Posted on: Nov 23, 2016. Tags: SANJIV KUMAR DEEWANA SONG VICTIMS REGISTER