सागर में न कलसक कर दिये...गीत-

ग्राम-राजापुर, पोस्ट-लड़वारी, जिला-निवाड़ी (मध्यप्रदेश) से मनोज कुसवाहा एक गीत सुना रहे हैं:
सागर में न कलसक कर दिये-
कही मिला नई तो दरस मिला-
आता देखा दिया नंद को-
माछला कहीन सनाता खाय-
हरिद्वारा और हरी की केरी-
घाट घाट कर लिया निहाय...

Posted on: Apr 05, 2020. Tags: MANOJ KUSHWAHA MP NIWARI SONG

काये के मानों माता समान...कविता-

ग्राम-राजापुर, पोस्ट-लडवारी, जिला-निवाड़ी (मध्यप्रदेश) से मनोज कुशवाहा एक कविता सुना रहे हैं :
काये के मानों माता समान-
उसी का करलो तुम सम्मान-
उसी का करलो तुम सम्मान-
माता बना देते पहले बान-
अमृत देते है वोह वरदान-
दूध होता होता है अमृत जैसा...

Posted on: Nov 04, 2019. Tags: MANOJ KUSHWAHA MP NIWADI POEM

देशभक्ति गीत : मेरे देश की माटी बन गई सोना-

ग्राम-राजापुर, पोस्ट-लडवारी, जिला-निवाड़ी (मध्यप्रदेश) से मनोज कुशवाहा देशभक्ति गीत सुना रहा है:
मेरे देश की माटी बन गई सोना-
दुल्हन सी लागे धरती हमारी-
प्राणों से प्यारी है माता धरती-
नदिया बहती कल-कल करते धरती-
माता के चरणों में रहके-
खेती के दिन पूजा जाता-
माता का दिल भर जाता-
भारत की धरती पर एकता हो जाते-
धन हो जाते, धन हो जाते-
अर्जुन कृष्णा राम की भूमि-
भारत की भूमि है स्वर्ग के सुन्दर-
इस पर जन्में मनु और मनिंदर...

Posted on: Oct 02, 2019. Tags: MANOJ KUSHWAHA NIWARI MP

तोता तोता दिया हुंकारा, अमर कथा न सुनी हुमायु, सोच रहे हुंकारा...गीत-

ग्राम-राजापुर, पोस्ट-लड़वारी, जिला-टीकमगढ (मध्यप्रदेश) से मनोज कुशवाहा एक गीत सुना रहे हैं:
तोता तोता दिया हुंकारा, अमर कथा न सुनी हुमायु-
सोच रहे हुंकारा-
अविनासी के नासी कासी अपनी अलख बताई थी-
बैठ गुफा में गोरा जी अमर कथा सुनाई थी-
आज यहां पर कोण तीसरा, गोरा इस वक्त आया है-
चढ़ा क्रोध जब शंकर जी को, कर त्रिशूल उठाया है...

Posted on: Mar 12, 2019. Tags: MANOJ KUSHWAHA MP SONG TIKAMGARH

स्वास्थ्य स्वर: घरेलू सामग्री से ख़ासी, जुकाम व बुखार की उपचार विधि...

सामग्री-नीम की ताज़ा कोपले, काली मिर्च, लोंग, तुलसी की पत्तिया, मिट्टी से बना दिया एवं एक स्टील का बर्तन रख लेवे, नीम की कोपलों को पीस ले फिर उसका रस किसी साफ बर्तन में रख लेवे, इसी तरह काली मिर्च, लोंग, तुलसी की पत्तियों को भी पीस ले सामग्री पीसते समय थोड़ा थोड़ा पानी मिलाते रहे उसके बाद छानकर नीम के रस में मिला दे, मिट्टी के दिए को आग पर गर्म कर लेवे तब तक जब तक लाल दिखने लग जाये,अब उस दिए को स्टील के बर्तन में रख ले, बना हुआ मिश्रण दिए में डाल दे,फलस्वरूप बनी हुई औषधि स्टील के बर्तन में जमा हो जाती है, अब प्राप्त औषधि को ठण्डा होने दे,औषधि पूरी तरह तैयार है,उपयोग करने के उपाय-यदि बच्चा १-५ वर्ष का बच्चा है तो २०ग्राम दिन में दो बार सेवन करे,५ से १५ वर्ष है तो ५० ग्राम दिन में दो बार उपयोग में लाये, १५ से २० वर्ष के लिए भी ५० ग्राम उपयोग में लाये, सावधानिया-शक्कर(चीनी)एवं ठण्डाई चीजो से बचे-मनोज कुशवाह@9174493226

Posted on: Mar 25, 2018. Tags: MANOJ KUSHWAHA

View Older Reports »