हमारे गाँव में कई हैंडपंप खराब हैं कई मोहल्लों के लोग दूर से लाइन लगाकर पानी लाकर पी रहे हैं...

ग्राम आमाडोंगरी, विकासखण्ड-बिछिया, जिला-मंडला (मध्यप्रदेश) से लेखराम यादव के साथ गाँव के संतोष हर्दा हैं जो बता रहे है कि ग्राम के वार्ड क्रमांक 4 और 6 के बर्रा टोला वार्ड में हैण्डपम्प खराब है और खेरमाई जनरल मोहल्ला के वार्ड 6 में भी हैण्डपम्प ख़राब है जिससे ग्रामीणों को पीने के पानी की बहुत समस्या हो रही है और यहाँ पर 30 परिवार है जिनको इस नवतपा की गर्मी में बहुत दूर से लाइन लगाकर पानी ढोकर लाना पद रहा है इसलिए वे सीजीनेट सुनने वाले साथियों से मदद की अपील कर रहे है कि कृपया इन अधिकारियों को फ़ोल कर दबाव बनाएं : सचिव@9407811371, सरपंच@9977143857, P.H.E.विभाग सुपर वाईज़र@9644339947. लेखराम यादव@9111648643.

Posted on: May 26, 2017. Tags: LEKHRAM YADAV

लट खेलत नच मेरी माँ, की नव नंग रतन जड़े...ग्रामीण लोकगीत -

लेखराम यादव ग्राम-चंगेरिया, विकासखंड-बिछिया, जिला-मंडला, मध्यप्रदेश से एक ग्रामीण लोकगीत सुना रहे हैं:
लट खेलत नच मेरी माँ, की नव नंग रतन जड़े-
लट खेलत नच मेरी माँ,की नव नंग रतन जड़े-
हे कए नाग मगवाए मईया खेलत बिजुरा-
खो नये त्रिशूल,कए नग मंगवाए केला...

Posted on: Nov 07, 2016. Tags: LEKHRAM YADAV

त्रेता में सुग्रीव के कारण बाली ने मारे बाण...गीत

लेखराम यादव ग्राम-चंगेरिया, विकासखंड-बिछिया, जिला-मंडला, मध्यप्रदेश से एक गीत सुना रहे हैं:
त्रेता में सुग्रीव के कारण बाली ने मारे बाण-
द्वापर में अर्जुन के रथ ला हाकत हैं भगवान्-
राम जन्म में दूध मिले और कृष्ण जन्म में घी-
कलयुग में दारु मिले कि सोच-समझ कर पी-
त्रेता में सुग्रीव के कारण बलि ने मारे बाण...

Posted on: Jul 25, 2016. Tags: LEKHRAM YADAV

सीजीनेट का यह नंबर है, सब कर लो मिस कॉल दादा भईया...गीत

लेखराम यादव ग्राम-चंगेरिया, विकासखंड-बिछिया, जिला-मंडला, मध्यप्रदेश से सीजीनेट स्वर मोबाइल मीडिया पर आधारित एक गीत सुना रहे हैं:
सीजीनेट का यह नंबर है-
सब कर लो मिसकॉल दादा भईया-
इसमें न लगियो एक रुपईया-
सुना दो अपनी समस्या को-
सीजीनेट का नंबर तो है-
इस प्रकार से रे भईया-08050068000-
सीजीनेट का यह नंबर है...

Posted on: Jul 21, 2016. Tags: LEKHRAM YADAV

रचे-रचे रे मनचल राजा ब्याह सियानिया...मंडला से विवाह गीत

लेखराम यादव, जिला-मंडला, मध्यप्रदेश से एक साधु गीत (विवाह गीत) सुना रहे हैं:
रचे-रचे रे मनचल राजा ब्याह सियानिया-
वो तो बम्हना कहे मोरे बिन भवर न परे-
मोरे तेतु चले आगे राम जब तो बेटी भवर परे-
वो तो बढई कहे मोरे बिन भवर न परे-
मोरे खंभ चले आगे राम जब तो बेटी भवर पड़े-
वो तो मेहर कहे मोरे बिन भवर न परे-
मोरे कंगन चले आगे राम जब तो बेटी भवर परे-
वो तो कुम्हरा कहे मोरे बिन भवर न परे-
मोरे कलश चले आगे राम तब तो बेटी भवर परे-
रचे-रचे रे मनचल राजा ब्याह सियानिया...

Posted on: Jul 02, 2016. Tags: Lekhram Yadav

View Older Reports »

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »

Loading

Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download