पीड़ितों का रजिस्टर: पिता के गिरफ़्तारी के बाद परिवार को काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ा|

ग्राम-निबरा, पंचायत-भैंसगांव, ब्लाक-अंतागढ़, जिला-उत्तरबस्तर कांकेर (छत्तीसगढ़) से दसरथ गावड़े बता रहे हैं कि उनके पिता का नाम शुक्लू था जिन्हें नक्सली समझ कर पुलिस ने गिरफ्तार किया था| शुक्लू अपने घर में अकेले कमाने वाले व्यक्ति थे, उनकी गिरफ़्तारी के बाद परिवार को काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ा| सरकार ने उनकी कोई मदद नही की है| अधिक जानकारी के लिए संपर्क@9406464239. (185370) GT

Posted on: Oct 28, 2021. Tags: DASRAT GAWADE KANKER CG VICTIM REGISTER

पीड़ितों का रजिस्टर: मुझे पुलिस ने जेल में नक्सली के नाम पर डाल दिया था, परिवार बहुत दुखी था

ग्राम-सोडे, पंचायत-हिन्दूबिनापाल, पोस्ट-सिकसोड, तहसील-अन्तःगढ़, जिला-कांकेर, (छत्तीसगढ़) से राम चरण आचला बता रहे हैं कि उन्हें पुलिस वालों ने नक्सली समझकर जेल में भेज दिया था| वे कोर्ट से केश लड़ के जीते और बरी हुए, जब वे जेल में थे तब घर की हालात बहुत ही खाराब था, यहाँ-वहां से पैसे इकट्ठा करके वकील को दे रहे थे| आज भी बहुत गरीबी है सरकार उन्हें कोई मदद नही कर रहा है| वे चाहते हैं सरकार उन्हें मदद करे, जिससे अपने परिवार को चला सके| सम्पर्क नम्बर@7587145102.

Posted on: Oct 28, 2021. Tags: CG KANKER MAOIST RAM CHARAN VICTIM VICTIMS REGISTER

पीड़ितों का रजिस्टर: बच्चों की शिक्षा के लिए सरकार से नौकरी कि मांग है...

ग्राम-सुलंगी, ब्लॉक-कोयलिबेड़ा, ज़िला-कांकेर, छत्तीसगढ़ से उर्मिला उसेंडी बता रही हैं कि उनके पति, सुम्मत उसेंडी की 2013 में नक्सलियों ने हत्या कर दी थी। हत्या का कारण आज तक नहीं पता चला। हत्या के बाद सरकार की तरफ से उन्हें रु 8 लाख की राशि की मदद मिली। मगर वे चाहती हैं उन्हें एक नौकरी भी मिलनी चाहिए और पास के शहर में रहने के लिए एक जगह। इन चीजों की मदद से वे अपने बच्चों को शिक्षा और एक अच्छा बचपन दने की उम्मीद रखती है। संपर्क नंबर@6264039214.

Posted on: Oct 27, 2021. Tags: CG KANKER KOYLIBEDA MAOIST VICTIM URMILA USENDI VICTIM REGISTER

पीड़ितों का रजिस्टर: मेरे पिता और चाचा को नक्सलियों ने मार दिया, सरकार से कोई मदद नहीं मिली

सीमा ध्रुव, जो कि भानुप्रतापपुर, जिला कांकेर, छत्तीसगढ़ में रहती हैं, बता रही हैं कि नक्सलियों द्वारा इनके पिता और चाचा को मारा गया था। जिसके बाद वे लोग गांव छोड़ कर भागना पड़ा। उन्हें सरकार से कोई मदद नहीं मिली है। उनके परिवार में 10 सदस्य हैं। उनकी मांग है कि उन्हें अपने परिवार के भरण पोषण के लिए एक नौकरी और घर बनाने के लिए जमीन मिलनी चाहिए। संपर्क नंबर@8103800614

Posted on: Oct 27, 2021. Tags: BHANUPRATAPUR CG JOB KANKER MAOIST VICTIM SEEMA DHRUW VICTIM REGISTER

पीड़ितों का रजिस्टर: नक्सलियों की धमकियों से डर कर 10 साल पहले गांव छोड़ना पड़ा...

बिसलाल दुग्गा, जो कि फिलहाल भानुप्रतापपुर में रहते हैं, बता रहे हैं कि नक्सलियों की धमकियों के कारण उन्हें अपना गांव छोड़ कर भागना पड़ा। वे 2011 में पलायन करने के पहले ग्राम गुमड़ी में रहते थे। उनके परिवार में 7 सदस्य हैं। उन्हें सरकार से कोई मदद नहीं मिली है। ज्यादा जानकारी के लिए संपर्क नंबर@8817071365

Posted on: Oct 27, 2021. Tags: BHANUPRATAPUR BISLAL DUGGA CG KANKER MAOIST VICTIM VICTIM REGISTER

« View Newer Reports

View Older Reports »

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »


YouTube Channel




Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download