ओतेक दिन बाबा दादी कर रही, मकई रोटी महुआ लाटा के आहार...कर्मा गीत

नीलकंठपुर, ग्राम-गोरगी, जिला-सूरजपुर (छत्तीसगढ़) से जगदेव प्रसाद पोया एक कर्मा गीत सुना रहे हैं :
ओतेक दिन बाबा दादी कर रही, मकई रोटी महुआ लाटा के आहार-
सरई लाटा के आहार हो, आजे लोग कर चाऊर दाल के आहार-
ओतेक दिन बाबा दादी कमायें, मेझरी कोदों माड सवा मडिया के माड-
आज लोग के हाईब्रीड धान के प्रचार, हाय रे हो हाई ब्रेड धान के प्रचार-
ओतेक दिन बाबा दादी परे लाखो दुःख बीमार, परे लाखो दुःख बीमार हो-
ओमन करे जंगली जड़ी के उपचार, कई सनो दुःख भागे मुडी के पराये...

Posted on: May 23, 2018. Tags: JAGDEV POYA

धरती माई की सेवा करेंगे हम, आये कोई दुश्मन लड़ेंगे, बांध सर में कफ़न...धरती माई के गीत

ग्राम-नीलकंठपुर, पंचायत-कोर्गी, तहसील-प्रतापपुर, जिला-सूरजपुर (छत्तीसगढ़) से
जगदेव प्रसाद पोया एक धरती माई के गीत सुना रहे है:
अनुदान में मिली धरती माई की, सेवा करेंगे हम-
आये कोई दुश्मन से लड़ेंगे, बांध सर में कफ़न-
धर्म संस्कृति बचाओं, आन्दोलन करेंगे गाँव गाँव हम-
अनुदान में मिली धरती माई की, सेवा करेंगे हम-
जीतकर आयेंगे रण से, हम लोगो का है ये वादा-
करेंगे सफ़ाई झाड़ू से, आये रास्ते में कोई बाधा-
अनुदान में मिली धरती माई की, सेवा करेंगे हम...

Posted on: Apr 07, 2018. Tags: JAGDEV POYA

भुरु पानी गाँव हमर, बड़ा सुंदर गाँव हे रे, बड़ा सुंदर गाँव...गीत

ग्राम-नीलकंठपुर, पंचायत-गोरगी, थाना-चंदोरा, जिला-सूरजपुर (छत्तीसगढ़) से जगदेव प्रसाद पोया अपने गाँव के बारे में गीत के माध्यम से बता रहे है:
भुरु पानी गाँव हमर बड़ा सुंदर गाँव हे रे, बड़ा सुंदर गाँव-
आदिवासी जन हवे, भय्या हो, आदिवासी जन हवे-
चले फिरे बढ़ रास्ता कठिन है, पानी नल कुआं के भी परेशानी है-
भय्या हो पानी पिये बर परेशानी है, दादा हो आये जाए बर परेशानी है-
लेकिन भुरु पानी गाँव हमर, बड़ा सुंदर गाँव हे रे, बड़ा सुंदर गाँव-
यहाँ कोया आदिवासी जन हवे...

Posted on: Apr 06, 2018. Tags: JAGDEV POYA

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »

Loading

Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download