भारत माता का सपूत, आजादी का दीवाना था...कविता-

ग्राम-रक्सा, पोस्ट-फुनगा, जिला-अनूपपुर (मध्यप्रदेश) से दिव्या जोगी एक कविता सुना रही हैं:
भारत माता का सपूत, आजादी का दीवाना था-
हँसकर झूल गया फाँसी पर, भगतसिंह मस्ताना था-
नौजवान था वह पंजाबी, गजब शेर के दिलवाला-
देशप्रेम का रस पीकर वह बना हुआ था मतवाला-
दिन में चैन, नींद रात में, उसको कभी नहीं आती...

Posted on: Mar 29, 2020. Tags: ANUPPUR DIWYA JOGI MP POEM

अगर कहीं मै घोड़ा होता...कविता-

ग्राम-रक्सा, पोस्ट-फुनगा, जिला-अनूपपुर (मध्यप्रदेश) से दिव्या एक कविता सुना रही हैं:
अगर कहीं मै घोड़ा होता-
वही लम्बा चौड़ा होता-
तुम पीठ पर बैठा करते-
बहुत तेज मै दौड़ा होता-
पालक झपक के लेता होता...

Posted on: Mar 24, 2020. Tags: ANUPPUR DIWYA JOGI MP POEM

मछली जल की रानी है...कविता-

ग्राम-रक्सा, पोस्ट-फुनगा, जिला-अनूपपुर (मध्यप्रदेश) से दिव्या एक कविता सुना रही हैं:
मछली जल की रानी है-
जीवन उसका पानी है-
हाथ लगाओ डर जाती है-
बाहर निकालो मर जाती है...

Posted on: Mar 22, 2020. Tags: ANUPPUR DIWYA MP POEM

मत ठहरात में चलना ही चलना...गीत...

ग्राम-रक्सा, जिला-अनूपपुर (मध्यप्रदेश) से दिव्या एक गीत सुना रही हैं:
मत ठहरात में चलना ही चलना-
चलने से प्राण से तुम नहीं टलना-
तुम ठहरो तो समझो ठहरा जीवन है-
मत ठहरात में चलना ही चलना-
चलने से प्राण से तुम नहीं टलना-
तुम ठहरो तो समझो ठहरा जीवन है...

Posted on: Mar 07, 2020. Tags: ANUPPUR DIWYA MP SONG

जगमग-जगमग दिये जल उठे द्वार-द्वार चमकी दीवाली...कविता-

ग्राम-रक्सा, पोस्ट-फुनगा, थाना-भालूमडा, जिला-अनूपपुर (मध्यप्रदेश) से दिव्या जोगी एक कविता सुना रही हैं :
जगमग-जगमग दिये जल उठे द्वार-द्वार चमकी दीवाली-
खीर बादसे बाँट रही है अम्मा सबको भर-भर थाली-
झूम-झूम कर हँसते गाते दौड़-दौड़ कर दीप जलाते-
भर-भर सब फुलझड़ी जलाते, बच्चे बचाते लाते-
अन्नू, मन्नू, सीता, गीता नाच रहे दे दे कर ताली-
द्वार द्वार चमकी...

Posted on: Nov 01, 2019. Tags: ANUPPUR DIWYA JOGI MP POEM

View Older Reports »