बहना मेरी धोखा न खाना ,हाय राम पढ़ने का है ज़माना... महिला गीत

रीवा मध्यप्रदेश से सुषमा जी एक महिला सशक्तिकरण गीत गा रही हैं:
बहना मेरी धोखा न खाना ,हाय राम पढ़ने का है ज़माना-
पढ़ेगी लिखेगी तो आगे बढ़ेगी, अपने भारत का नाम रोशन करेगी-
बहना मेरी धोखा न खाना हाय राम पढ़ने का है ज़माना-
पढ़ेगी लिखेगी तो आगे बढ़ेगी अपने अधिकारो को खुद ही पढ़ेगी-
बहना मेरी धोखा न खाना हाय राम पढ़ने का है ज़माना-
पढ़ेगी लिखेगी तो आगे बढ़ेगी अपने लड़ाइयों को को खुद ही लड़ेगी-
बहना मेरी धोका न खाना हाय राम पढ़ने का है ज़माना...

Posted on: Apr 02, 2016. Tags: Sushma Rewa

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »

Loading

Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download