तापती ढोडा न ऐरे आन्दुरी बाई: गोंडी गीत

ग्राम आलमपुर जिला बैतूल मध्यप्रदेश से संगीता यादव एक गोंडी गीत सुना रही है यह गाना तब गाते हैं जब नदी जाते हैं और कहते हैं कि भाभी धीरे धीरे चलो तुम्हारी गगरी छलक रही है:
तापती ढोडा न ऐरे आन्दुरी बाई
धीरे धीरे ताका गगरी छलके माये
लाता तापती ढोडा नी ऐरे गगरी छलके
आन्दुरी बाई धीरे धीरे ताका गगरी छलके
मायेलाता धीरे धीरे ताका री भाभी
नी बिंदिया चमके माये लाता
धीरे धीरे ताका री भाभी नी व् बिंदिया चमके
मायलाता तापती ढोडा न री अंदरी बाई
धीरे धीरे ताका नि माये लाता

Posted on: Dec 08, 2013. Tags: Sangeeta Yadav