छत्तीसगढ़ जिला जगदलपुर से मशरूम उत्पादन एंव पैदावार करने की विधि व जानकारी...

जिला-जगदलपुर, बस्तर (छत्तीसगढ़) से भोला बघेल मशरूम लगाने, उगाने की विधि बता रहे है| स्पान 1 किलो, पैराकुटिया, गेहू का भूसा या सोयाबीन का भूसा 10 किलो, पानी लगभग 100 लिटर, कार्बन डिजिंग 5-7 ग्राम, फ्रामेलिन 140 मिली लिटर, पोलेथिन बेग| इन सभी का मिश्रण बनाकर 14-18 घंटे भिगोकर पानी निथारकर साफ सुथरी जगह पर सुखने के लिए छोड़ दे. जब अधिक गिला पान हट जाये, 60 से 70 प्रतिशत नमी बनी रहे, तब 30 ग्राम स्पान मिलाकर गर्म पानी के साथ उपचार करे. 40 लिटर पानी को 100 डिग्री गर्म कर उसमे आधा घंटा उसमें स्पान रखा जाता है| उसके बाद पानी निथाकर पोलीथिन बेग में भूसा सहित डाल देते है| जहाँ पर बेग रहे वहा का मौसम ठंडा होना चाहिए, उस जगह को ठंडाई वाली बनाना चाहिए. रस्सी या तार से बांधकर बेग में 8-10 छेद कर टांग दे एक कमरे में, यह बहुत ही लाभकारी होता है|बहुत कम पैसे में अधिक फ़ायदा आज के दौर में मार्किट में मांग है. अधिक जानकारी के लिए@9770920048.

Posted on: Nov 26, 2019. Tags: BHOLA BAGHEL JAGDALPUR CG

कविता : हाथी भालू दोनों में था सच्चा -सच्चा मेल...

ग्राम-कुरुसपाल, जिला-बस्तर, जगदलपुर (छत्तीसगढ़) में भोला बघेल और उनके साथ है स्कूली छात्रा भूमिका एक कविता सुना है:
हाथी भालू दोनों में था सच्चा -सच्चा मेल-
दोनों मिलकर खेल रहे थे लुका-छुपी का खेल-
हाथी बोला सुन मेरे भाई , अब मैं छुपने जाता हूँ-
पानी वाली जगह मिलूँगा पक्की बात बताता हूँ...

Posted on: Nov 26, 2019. Tags: BASTAR CG BHOLA BAGHEL SONG

राजस्थान के कलाकार द्वारा, बस्तर की स्कूलों में हाथ की सफ़ाई का खेल दिखाए...

टोकापाल, जिला-बस्तर (छत्तीसगढ़) से भोला बघेल जो कि राजस्थान से आये जादूगर से विशेष बातचीत कर रहे है|सोहेल खान जादूगर है जो कि राजथान के बारा जिले से है जो कि, बस्तर जिले के स्कूलों में गाँवों में अपनी कला का हूनर दिखा रहे है| बातचीत के दौरान बता रहे है कि यह कला खानदानी है दादा परदादा के ज़माने से खानदान में इस तरीके की हुनर है, यह जादू नहीं बल्कि हाथ की सफ़ाई है|मनोरंजन हो जाता है, बच्चों का दिल ख़ुश हो जाता है, और इससे रोज़गार मिलता है| यह कोई अन्धविश्वाश या तंत्र मन्त्र शक्ति नहीं बल्कि एक कला है|

Posted on: Nov 25, 2019. Tags: BASTAR CG BHOLA BAGHEL

पुस्तक का संसार ज्ञान मनोरंजन का भंडार है, इस संदर्भ में विचार व्यक्त भोला बघेल...

जिला-जगदलपुर (छत्तीसगढ़) से भोला बघेल जी हमें पुस्तकें पढ़ने को प्रेरित कर रहे हैं इनका कहना है कि एक ही जिंदगी में हम ढेर सारी किताबें पढ़कर ज्ञान की बातों को को ग्रहण कर सकते हैं| हम अच्छी-अच्छी किताबें-इतिहास, सामाजिक की बातें पढ़ सकते हैं, अख़बारों से विभ्हिन्न जानकारियां ले सकते हैं, पुस्तकालय जाकर हम कई प्रकार की पुस्तकों का अध्ययन कर बहुत सारी बातों का ज्ञान ले सकते हैं| जितने भी महान वैज्ञानिक हैं सभी ने बहुत ज्ञान की बातों का अध्ययन किया है|पुस्तक मनुष्य जीवन का सबसे अच्छा साथी है| इसके विपरीत आज के दिन में अधिकांश लोग मोबाइल, गपशप, फिल्मों, किसका किसके साथ झगड़ा हुआ है, शराब की बातें ही किया करते हैं |इसलिए किताबें पढो सबसे अच्छी ज्ञान लो यह सन्देश हम सबके लिए है.

Posted on: Nov 24, 2019. Tags: BHOLA BAGHEL JAGDALPUR CG

कविता : नदी किनारे काला-काला साँप, बाबा काला-काला साँप...

ग्राम-गोदाम पारा बेलर, जिला-जगदलपुर (छत्तीसगढ़) से सूर्यभान कश्यप जो कि कक्षा 4 का छात्र है एक कविता सुना रहे है|
नदी किनारे काला-काला साँप, बाबा काला-काला साँप-
बोतल के अंदर एपल का ज्यूस, बाबा एपल का ज्यूस-
राजा का बेटा बड़ा कंजूस, बाबा बड़ा कंजूस-
रानी की बेटी ब्यूटीफुल, बाबा ब्यूटीफुल-
राजा ने पानी डाला नहीं खिला फूल, बाबा नहीं खिला फूल-
रानी ने पानी डाला ख़िल गया फूल, बाबा ख़िल गया फूल...

Posted on: Nov 22, 2019. Tags: BHOLA BAGHEL JAGDALPUR CG

« View Newer Reports

View Older Reports »

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »

Loading

Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download