5.6.31 Welcome to CGNet Swara

सजा के रखा ए भाईसा, फल बा हसीन...भोजपुरी गीत-

मालीघाट, जिला-मुजफ्फरपुर (बिहार) से सुनील कुमार एक गीत सुना रहे हैं :
गर्मी के फल बाटे, बड़ा कमसीन-
सजा के रखा ए भाईसा, फल बा हसीन-
ट्रीटमेंट प्लांट लगईहा, लगईहा तू मशीन-
ट्रीटमेंट प्लांट से भईया, लीची रहे कमसीन-
शाही लीची-चायना लीची, सब लीची हसीन-
गऊवां-जवरवां के ईबा वैद्य हकीम-
शहर मुजफ्फरपुर के, फल बा रंगीन...

Posted on: Oct 18, 2018. Tags: BHOJPURI BIHAR MUZAFFARPUR SONG SUNIL KUMAR

अब न सहब हम जुलुमिया तोहार, भले भेजा जेहलिया हो...भोजपुरी जनवादी गीत-

मालीघाट, मुजफ्फरपुर (बिहार) से सुनील कुमार भोजपुरी भाषा में एक जनवादी गीत सुना रहे हैं :
अब न सहब हम जुलुमिया तोहार, भले भेजा जेहलिया हो-
सगरे चिटाइल बा हमरे कमाईनी, हमही उगाई हमही बचीनी-
सगरे चिटाइल बा हमारे कमाईनी-
हम अ भाईनी गंगा के ढहल का कारा-
कारी तोहरी डहलिया हो, कारी तोहरी डहलिया हो-
तोहरे लरिकवा के मोटर और गाड़ी हमरे लेरिकवा खाती कुदारी...

Posted on: Oct 09, 2018. Tags: BHOJPURI BIHAR MUZAFFARPUR SONG SUNIL KUMAR

भवरवा के तोहरा संग जाई, के तोहरा संग जाई...भोजपुरी गीत-

ग्राम-बटई, पोस्ट-रेवटी, जिला-सूरजपुर विकासखण्ड-प्रतापपुर (छत्तीसगढ़) से दुर्गेश पटेल भोजपुरी भाषा में एक लोकगीत सुना रहे हैं :
भवरवा के तोहरा संग जाई, के तोहरा संग जाई-
जाई के बेरिया केहू ना जाने, आई के बेरिया सब केहू जाने-
दुवारा पे बाजे ला बधाई, के तोहरा संग जाई-
हंस अकेला उडी जाई भवरवा, के तोहरा संग जाई-
भवरवा के तोहरा संग जाई...

Posted on: Sep 12, 2018. Tags: BHOJPURI CG DURGESH PATEL SONG SURAJPUR

मन मगन भक्ति में, अइसन सारा बंधन तोड़ के...भोजपुरी भक्ति गीत-

ग्राम-मालीघाट, जिला-मुजफ्फरपुर (बिहार) से पूजा कुमारी भोजपुरी में एक भक्ति गीत सुना रही हैं :
मन मगन भक्ति में अइसन सारा बंधन तोड़ के-
हो अज नैकी बहुरिया नाचे हाय ललकी चुनरिया ओढ़ के-
संगही में नाचे तारो ससुर भसुर हो-
छोटका देवरवा के चढ़ गईली सुर हो-
कहे झुमा आ के बहनी हमार, ऐहो चाची हो जा तैयार...

Posted on: Aug 27, 2018. Tags: BHOJPURI BIHAR MUZAFFARPUR PUJA KUMARI SONG SUNIL KUMAR

डोली लेके अईले सजनवा ,हो मोरा होला गवनवा...भोजपुरी गीत

मालीघाट, मुजफ्फरपुर (बिहार) से सुनील कुमार एक निर्गुण गीत भोजपुरी भाषा में सुना रहे है:
डोली लेके अईले सजनवा, हो मोरा होला गवनवा-
सखिया करावेली सगुनवाँ मोरा होला गवनवा-
हरियर बाँस के बनलबा खटोला-
मिलल दहेज में लाल रंग चोला उजर -उजर मोर चनवां-
मोर होला गवनवाँ बभना के पुतवा मंतर बांचे-
बेर-बेर छिड़के-चाउर काँचे गम -गम गमके अँगनवां-
हो मोरा होला गवनवाँ संगी साथी देखन आवे-
न भर खातिर घुँघटा हटावे भरी-भरी आवे नयनवां...

Posted on: Jul 16, 2018. Tags: BHOJPURI SONG SUNIL KUMAR

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »


Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download


From our supporters »