रोको शिक्षा के व्यापार को रोको, रोको निजीकरण के प्रहार को रोको...शिक्षा गीत

ग्राम-मोतीझील, जिला-मुजफ्फरपुर (बिहार) से श्रवण कुमार एक संघर्ष गीत सुना रहे हैं:
रोको शिक्षा के व्यापार को रोको – रोको निजीकरण के प्रहार को रोको – वैज्ञानिक जनवादी शिक्षा यही हमारा नारा हैं-
स्वास्थ्य शिक्षा सबको शिक्षा ये अधिकार हमारा हैं-
शिक्षा संकोचन के वार को रोको – रोको निजीकरण के प्रहार...
मेहनत वर को शासक बारूद का ढेर समझते हैं-
इसलिए वो शिक्षा की चिंगारी से डरते हैं – रोको निजीकरण के प्रहार...

Posted on: Sep 02, 2016. Tags: SHRAVAN KUMAR

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »

Loading

Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download