धरती के आंगले करो अरे भाग्यवान धरती के आंगले करो...मराठी कविता-

नगर पंचायत-भामरागड जिला-गडचिरोली महाराष्ट्र से प्रवीण पोडयामी कक्षा 4 में पढता है और मराठी भाषा में एक कविता सुना रहा है:
धरती के आंगले करो-
अरे भाग्यवान धरती के आंगले करो-
पेटा व् जावा सांगत जावा-
जानगनी कास गासी रान पाकरा-
नैना का जिम्मेदारी अरी बरी सरी बरी...

Posted on: Jun 11, 2020. Tags: BHAMRAGAD GADCHIROLI MH POEM PRAVEEN PODYAMI