कोयतोर बिगड़ गए हैं यार देखा सिटी मा रे...गीत -

ग्राम-सालीवाडा, तहसील-नैनपुर, जिला-मंडला (मध्यप्रदेश) से कलिराम धुर्वे एक गीत सुना रहे हैं:
कैसी लीला अपरम पार-
कोयतोर बिगड़ गए हैं यार देखा सिटी मा रे-
जन बच्चा से दारू पीबे बन गए हैं मतवार-
भाई-भाई में झगड़ा होवे फूट गई परिवार-
कैसी चलहो गड़बड़ साल देखा सिटी मा रे-
कोई चरावें गईया भैसिया कोई चरावे छेरी-
बन बसिया के छोड़ जबलपुर लगा रहे हैं फेरी...

Posted on: Feb 21, 2019. Tags: KALIRAM DHURWE

कर लो कोया किसानी बड़े सुहे पानी...किसानी गीत

तहसील-नैनपुर, जिला-मंडला (मध्यप्रदेश) से कलीराम धुर्वे एक किसानी गीत सुना रहें है:
कर लो कोया किसानी बड़े सुहे पानी-
कोदों कुटकी सबे बोहादों-
भुट्टा ककड़ी बाड़ी लगा दो-
करियो नयना दानी बड़े सुहे पानी-
दाने बोआ दो रोपा लगा दो-
नादिर है पानी सेला गवादों – लिंगो दाई रिसानी बड़े सुहे पानी-
रहर तिल्ली की बातों निराली-
बाकि फसल तो सैयानी-सैयानी-
ले लयो छल्ला निशानी बड़े सुहे पानी-
कर लो कोया किसानी बड़े सुहे पानी...

Posted on: Feb 14, 2018. Tags: KALIRAM-DHURWE

मोरे मडला गढ़ माटी ला बंदो जीयत मरत के साथी...गीत

ग्राम-सालीवाडा, तहसील-नैनपुर, जिला-मंडला (मध्यप्रदेश) से कलीराम धुर्वे
एक गीत सुना रहें है:
मोरे मडला गढ़ माटी ला बंदो जीयत मरत के साथी-
जीयत मरत साथी है धरती जीयत मरत के साथी-
माटी के चोला माटी में मिलबे अमर बने है कहानी-
अमर बने कहानी वों दाई अमर बने है कहानी-
मोरे मडला गढ़ माटी ला बंदो जीयत मारत के...

Posted on: Feb 07, 2018. Tags: KALIRAM DHURWEY

गुरु लिंगो महराज,गुरु लिंगो महराज...गोंडवानी गीत

तहसील-नैनपुर, जिला-मंडला (मध्यप्रदेश) से कलीराम धुर्वे एक गोंडवानी गीत सुना रहा हैं:
सेवा-जोहार कर लिंगो जी-
लेहूँ चरण चित लाय-
वाणी मा मोर विराजो देवा-
मोला ज्ञान देव बतलाय-
गुरु लिंगो महराज,गुरु लिंगो महराज-
भूले के रस्ता बताई दे-
भूले के रस्ता बताई दे बाबा-
बाबा भूले के रस्ता बताई दे-
ये भुइया के रहवासी धर्म भुलाये रे...

Posted on: Jan 12, 2018. Tags: KALIRAM DHURWEY

नशा हे नाश कर देगा फिरोगे दाने-दाने को, कटोरा हाथ में होगा कोई न देगा खाने को...गीत -

तहसील-नैनपुर, जिला-मंडला (मध्यप्रदेश) से कलीराम धुर्वे एक नशा विरोधी गीत सुना रहे है:
नशा हे नाश कर देगा फिरोगे दाने-दाने को-
कटोरा हाथ में होगा कोई न देगा खाने को-
दारु की कर्म हार बेला दारू जो पीवे यार-
मिट जाए जिन्दगी के डेरा रे-
हायेगा ना हिगा दारु जो पीवे यार-
मुह के बाड तोडले महुआ गिराते-
वैसे गिरा दई तोला...

Posted on: Jan 11, 2018. Tags: KALIRAM DHURWEY

View Older Reports »

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »

Loading

Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download