कर लो कोया किसानी बड़े सुहे पानी...किसानी गीत

तहसील-नैनपुर, जिला-मंडला (मध्यप्रदेश) से कलीराम धुर्वे एक किसानी गीत सुना रहें है:
कर लो कोया किसानी बड़े सुहे पानी-
कोदों कुटकी सबे बोहादों-
भुट्टा ककड़ी बाड़ी लगा दो-
करियो नयना दानी बड़े सुहे पानी-
दाने बोआ दो रोपा लगा दो-
नादिर है पानी सेला गवादों – लिंगो दाई रिसानी बड़े सुहे पानी-
रहर तिल्ली की बातों निराली-
बाकि फसल तो सैयानी-सैयानी-
ले लयो छल्ला निशानी बड़े सुहे पानी-
कर लो कोया किसानी बड़े सुहे पानी...

Posted on: Feb 14, 2018. Tags: KALIRAM-DHURWE