5.6.31 Welcome to CGNet Swara

सबसे पहले हमारे यहां कुछ ब्राम्हण परिवार के लोग बसे थे, जिसके कारण शहर का नाम बम्हनी पड़ा...

नगर पालिका-बम्हनी, तहसील-नैनपुर, जिला-मंडला (मध्यप्रदेश) से शिक्षक रामगोपाल हरदहा अंकित पडवार को बता रहे हैं कि उनका बम्हनी नगर बंजर नदी के किनारे बसा एक छोटा सा जगह है, जो मंडला से 10 किलोमीटर की दूरी पर है, उनका कहना है कि शायद इसी नदी के नाम से नगर का नाम बम्हनी पड़ा, उनके पूर्वजो के अनुसार वहां पर पहले ब्राम्हण परिवार के लोग ज्यादा बसे हुवे थे और उन्ही ने नगर को बसाया है, आज वहां कई समुदाय के और धर्म को मनाने वाले लोग रहते हैं, उस समय 3 या 4 परिवार के लोग रहते थे जो जमींदार भी थे तो उनके कारण भी शहर का नाम बम्हनी पड़ा ऐसा भी लोग कहते है. आज वहां की संख्या 10 हजार से ज्यादा हो चुकी है | अंकित पडवार@9993697650.

Posted on: Sep 25, 2018. Tags: ANKIT PADWAR MANDLA MP NAINPUR STORY

हम स्वयंसेवी संस्थाएं समूहों के माध्यम से गांव गाँव में योजना और अधिकारों की जानकारी देते हैं...

ग्राम-आमाबेड़ा, तहसील-अंतागढ़, जिला-उत्तर बस्तर कांकेर (छत्तीसगढ़) से सुकवाय कश्यप बता रही हैं वे दिशा समाज सेवी संस्था में जोहर प्रोजेक्ट पर काम करती हैं, जिसमे 30 गांव को लेकर काम किया जा रहा है, वे लोगो को गांव में जाकर जानकारी दे रहे हैं उसमे 6 विषय रोजगार गारंटी कानून, जननी सुरक्षा योजना, राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा, पेंशन, इंदिरा आवास योजना, वन अधिकार कानून और महिला बाल विकास को शामिल किया गया है, वे लोगो तक योजनाओं की जानकारी को पहुचाती और अधिकारों को समूह, संगठन के माध्यम से स्थानीय लोगों को बताती हैं, ये काम चार NGO मिलकर करते हैं, वे 2002 से जुड़ी हैं 17 साल हो चुके है इस काम को करते हुए|

Posted on: Aug 04, 2018. Tags: ANKIT PADWAR KANKER STORY SUKWAY KASHYAP

गांव में किसी मुददे में बात करने या बैठक करने के लिए घंटी बजाकर संदेश देने की प्रथा है...

ग्राम-चिचवानी, प्रखण्ड-चैनपुर, जिला-गुमला (झारखण्ड) से सरपंच अरुन लकरा बता रहे हैं कि उनके गांव में किसी भी प्रकार की समस्या पर बात करने या सभा बुलाने के लिए एक व्यवस्था है, जिसमे बैठक बुलाने के लिए लगातार 2 घंटी मारी जाती है, आकस्मिक घटना या जानकारी जैसे किसी की मृत्यु हो जाने पर रुक-रुक के 2 घंटी मारी जाती है, उनके इलाके में नेत्रहाट फिल्ड फायरिग रेंज की समस्या है, अर्थात नेतरहाट नाम का एक गांव है जहां विस्थापन की समस्या है, उसके विरोध के लिए बैठक बुलाने के लिए लगातार 3 घंटी मारी जाती है, वे समस्या को हल करने के लिए वे प्रति वर्ष नेत्रहाट टुटवा पानी गांव में इक्कठा होते हैं...

Posted on: Jul 10, 2018. Tags: ANKIT PADWAR

हमारे गाँव से 4 किलोमीटर तक कच्ची सड़क, 20 साल से अनुरोध कर रहे, कोई नहीं सुनता...

ग्राम-बड़े तोपाल, ब्लाक-अंतागढ़, जिला-उत्तर बस्तर कांकेर (छत्तीसगढ़) से दशरथ बघेल और नरेंद्र कुमार जैन बता रहे हैं कि उनके गांव में कच्ची सड़क है, जिसकी लंबाई मेन रोड से गांव तक करीब 4 किलोमीटर है, गांव में लगभग 150 घर है, सड़क में गड्डे हैं, बारिश में पानी भरा रहता है, आवागमन में दिक्कत होती है, 20 साल से ये स्थिति है, इसके लिए अधिकारियो के पास आवेदन भी किये लेकिन अभी तक स्थिति में कोई बदलाव नही आया, इसलिए सांथी सीजीनेट के सभी श्रोताओं से अपील कर रहे हैं कि उपलब्ध नंबरो पर अधिकारियों से बात निवेदन करें जिससे गांव में पक्की सड़क बन सके : CEO@9953924884. संपर्क@9425294157.

Posted on: Jun 29, 2018. Tags: ANKIT PADWAR

हमारे गाँव के स्कूल का बुरा हाल है, बरसात के समय पानी टपकने से स्कूल बंद हो जाता है...

ग्राम-इमली पदर, पंचायत-हिमोड़ा, तहसील-अंतागढ़, जिला-उत्तर बस्तर कांकेर (छत्तीसगढ़) से सकुन देवांगन बता रहे हैं हमारे गांव का प्राथमिक विद्यालय जिसमे वर्तमान में 16 बच्चे पढ़ते है, 3 साल से जर्जर अवस्था में है, बारिश के समय अध्यापक छप्पर गिरने के डर से स्कूल बंद कर चले जाते हैं, अधिकारी भी देखकर चले जाते हैं, लेकिन इस पर कोई काम नही कर रहे, इसलिए ग्रामवासी सीजीनेट के सांथियों से अपील कर रहे हैं कि दिए गए नंबरों पर अधिकारियों से बात कर समस्या का निराकरण करने में मदद करें : सरपंच@7587263395,CEO@9953924884. संपर्क@9685614498.

Posted on: Jun 28, 2018. Tags: ANKIT PADWAR

View Older Reports »

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »


Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download


From our supporters »