अच्छे-अच्छे बांध बंधिये जैसे सागर ताल भैया...किसानी लोकगीत -

ग्राम-गुरमुठी, पोस्ट-महेवा, तहसील-वाड्रफनगर, जिला-बलरामपुर (छत्तीसगढ़) से रामदीप आयाम खेती किसानी पर एक लोकगीत सुना रहे हैं :
अच्छे-अच्छे बांध बंधिये जैसे सागर ताल भैया-
के बन जाओ धनवान भैया, किसानी धंधा रे-
अच्छे-अच्छे बिज डालिए अन्न पक्के हर साल भैया-
के बन जाओ धनवान भैया, किसानी धंधा रे-
अच्छे-अच्छे अन्न पक्के हर साल, किसानी धंधा रे-
के बन जाओ धनवान भैया, किसानी धंधा रे-
धन चन्दा तोर चांदनी, धन सूरज तोर जोत भैया-
के बन जाओ धनवान भैया, किसानी धंधा रे...

Posted on: Apr 17, 2017. Tags: RAMDEEP AYAAM

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »

Loading

Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download