माटी पुकारे तुझे देश पुकारे आजा रे बापू आ जा रे...बापू गीत

रामबाग चौरी, मुजफ्फरपुर (बिहार) से निधि वर्मा एक गीत सुना रही हैं :
माटी पुकारे तुझे देश पुकारे आजा रे बापू आजा रे-
भूले हम राहे हमें राह दिखा दे आजा रे राह दिखा दे-
ताने लाठी पकड़े चलते थे वो शान से-
जालिम कांपे थर-थर, थर-थर, सुनकर उनका नाम रे-
कच्छा उनका छोटा सा और सरपट उनकी चाल रे-
दुबले से पतले से थे वो चलते सीना तान के-
बंदे में था दम वन्दे मातरम...

Posted on: Mar 02, 2018. Tags: NIDHI VARMA

बड़ा नटखट है ये, किशन कन्हैया...गीत

मुजफ्फरपुर (बिहार) से निधि वर्मा एक भजन गीत सुना रही हैं :
बड़ा नटखट है ये, किशन कन्हैया-
का करी यशोदा मैईया-
आ तोहे मैने गले से लगा लूँ-
लागे न किसी की नजर मन में छुपा लूँ-
उड़ गया ऐसे जैसे, जैसे पुरवैया-
मेरे जीवन का तू, एक ही सपना-
जो भी तुझे देखे वो समझे वो अपना...

Posted on: Feb 28, 2018. Tags: NIDHI VARMA

बेटी हूँ मैं बेटी मैं तारा बनूँगी...बेटियों पर गीत

ग्राम-बाग़चौरई , जिला-मुजफ्फरपुर (बिहार) से निधि वर्मा और खुशबु एक बेटियों से सम्बंधित एक गीत सुना रही है:
बेटी हूँ मैं बेटी मैं तारा बनूँगी-
तारा बनूँगी मैं सहारा बनूँगी-
लिखूंगी पढूंगी मैं मेहनत भी करुँगी-
अपने पाँव पर चलके दुनिया को देखूंगी-
दुनिया को देखूंगी दुनिया को समझूंगी-
बेटी हूँ मैं बेटी मैं तारा बनूँगी...

Posted on: Feb 27, 2018. Tags: NIDHI VARMA AND KHUSHBU

हम सब भारतीय हैं अपनी मंजिल एक है...देश भक्ति गीत

रामबाग चौरी, मुजफ्फरपुर (बिहार) से निधि वर्मा एक देश भक्ति गीत सुना रही हैं:
हम सब भारतीय हैं, अपनी मंजिल एक है-
ह ह एक हैं, हो हो एक हैं-
हीर की धरती रानी है सर्ताज हिमालय है-
सदियों से हमने इसको खून से पाला है-
देश रक्षा के खातिर हम सब शीश कटा लेंगे-
बिखरे बिखरे तारे हैं हम एक चुल बुल एक हैं-
मंदिर, गुरुद्वारे भी है यहां और मस्जिद भी है यहाँ-
गिरजा का है घर यार कहीं अल्ला की कहीं है अजान-
रंग बिरंग दीपक है हम लेकिन झिल मिल एक है हम...

Posted on: Feb 27, 2018. Tags: NIDHI VARMA

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »

Loading

Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download