मोरे गुरु के मोरे हीरा के, संदेशा ले जा रे...

कैलाश नाथ आर्मो गोंडी भाषा, धर्म और संस्कृति पर एक गीत गा रहे है:
मोरे गुरु के मोरे हीरा के, संदेशा ले जा रे
जिला हे कोरबा तहसील पाली, तिवर ताऊ गाँव गा
गोंडवाना के धरम जगया, गुरु देव मरकाम ला
ओला जाना हो, ओला माना हो, ओला समझो भैया गा
मोरे गुरु के मोरे हीरा के...
राज गुरु अव धरम गुरु, दोनों गोंडी धरम ला लाइन हे
गोंडवाना के भूले गोंडीयन ला, गोंडी रीति बताइन है
ओला जाना हो ओला माना हो, वोला समझो भैया गा
मोरे गुरु के मोरे हीरा के...
बड़ा देव चलिसा गुरु देव के, गाँव-गाँव मा ये देयागे है
दादा जी के गोंडीयन गाथा, गोंडवाना भुइया मा छा गे है
ओला जानव, ओला मानव, ओला समझो भैया गा
मोरे गुरु के मोरे हीरा के...

Posted on: Aug 26, 2014. Tags: Kailashnath Marko