कसम से तोर सुरता घरी घरी मोला सताये...छत्तीसगढ़ी गीत-

ग्राम-कुमली, पंचायत-गढ़बेंगाल, जिला-नारायणपुर (छत्तीसगढ़) से खरसुराम बघेल एक छत्तीसगढ़ी गीत सुना रहे हैं:
कसम से तोर सुरता घरी घरी मोला सताये-
किवासी रे मन मा बोलत रहे-
नैना तरस जाये-
स्टाइल के काना गोकी तोर वाला रे-
सुन के दिल धड़के मोर वाला रे-
घरी घरी मोला बईही बनाये...

Posted on: Jun 15, 2020. Tags: CG KHARSURAM BAGHELCHHATTIGARHI NARAYANPUR SONG