टाटा यहां शेर मारने आते थे इसलिए केसकाल, बस्तर के इस पर्यटक स्थल का नाम टाटामारी पड़ा...

जिला-कोंडागांव (छत्तीसगढ़) से कैलाश कुमार पवार केसकाल क्षेत्र के टाटामारी पर्यटक स्थल के बारे में बता रहे हैं. केसकाल 12 मोड़ की घाटी है जिसे फूलो की घाटी के नाम से जाना जाता है इस जगह से 3 किलोमीटर की दूरी पर वह पर्यटक केंद्र है जिसकी लम्बाई डेढ़ किलोमीटर, चौड़ाई 500 मीटर और गोलाई 3 किलोमीटर है वह पहाड़ी भाग के ऊपर एक समतल मैदान है इसके चारो ओर खाई है ये बता रहे हैं पहले टाटा वहां के राजाओं के सांथ मिलकर शिकार करने आया करते थे इस कारण यहाँ का नाम टाटामारी पड़ा वहां एक दिन में 500 के करीब लोग आते हैं और त्योहारों के अवसर पर 10 हजार तक की संख्या में लोग आते हैं स्कूली बच्चे भी भ्रमण के लिए आते हैं यह एक प्रसिद्ध पर्यटक स्थल है | कैलाश कुमार पवार@8253050167.

Posted on: Nov 18, 2017. Tags: KAILAS KUMAR PAWAR