झिन रो बे बनिया झिन रो बे, झिन रो बे बनिया झिन रो बे...पहाड़ी कोरवा भाषा में गीत

ग्राम सलखेता, जिला रायगढ़ (छत्तीसगढ़) से मोहन राम पहाड़ी कोरवा और साथी एक पहाड़ी कोरवा भाषा में एक गीत सुना रहें हैं-
झिन रो बे बनिया झिन रो बे, झिन रो बे बनिया झिन रो बे-
बनिया-बनिया सफला जाथे, बनिया-बनिया पेरे जाथे-
झिन रो बे बनिया झिन रो बे, झिन रो बे बनिया झिन रो बे-
बनिया-बनिया रमला जाथे, बनिया-बनिया पिपरा जाथे-
झिन रो बे बनिया झिन रो बे, झिन रो बे बनिया झिन रो बे...

Posted on: Jun 07, 2017. Tags: JITANRAM PAHADI KORWA

रायगढ़ जिले के पहाड़ी कोरवा जनजाति के लोगो को सुविधा नहीं जबकि अन्य जिलों में दी जाती है...

ग्राम-सल्केता, पंचायत-गिद्कालो, पोस्ट-कुमरता, तहसील-धरमजयगढ़, जिला-रायगढ़ (छत्तीसगढ़) से जीतनराम पहड़ी कोरवा बता रहे है कि उनके जिले के विकासखंड धरमजयगढ़ में 20 गाँव में पहाड़ी कोरवा जनजाति के लोग रहते है, जिसमे 468 परिवार, जनसँख्या 1760 है, पर पीटीजी या विशेष पिछड़े जनजाति की तरह मान्यता नहीं होने के कारण शासन की ओर से उनको कोई विशेष राहत सुविधा नहीं मिल रही है जबकि अन्य जिलों जैसे जशपुर, सरगुजा, कोरबा, आदि जिले के पहाड़ी कोरवा लोगो को विशेष राहत सुविधा दी जा रही हैं. रायगढ़ जिले के पहाड़ी कोरवा साथियों को भी वही राहत सुविधा मिले इसलिए सीजीनेट के साथियों से मदद की अपील कर रहे है, कलेक्टर@07762222103. जीतनराम@8959289653

Posted on: Mar 17, 2017. Tags: JITANRAM PAHADI KORWA

हमारे गाँव में 19 साल में स्कूल भवन नहीं बना, बच्चो को झोपड़ी में पढाया जाता है, कृपया मदद करें...

ग्राम-सल्केता, पंचायत-गिघकालो, पोस्ट-कुमरता, विकासखंड -धरमजयगढ़, जिला-रायगढ़ (छत्तीसगढ़) से जीतनराम पहाड़ी कोरवा बता रहे है कि उनके गाँव में 35 घर है और जनसँख्या 185. उनके गाँव में 1997 से एक प्राथमिक शाला संचालित है उसमे 47 पहाड़ी कोरवा बच्चे अध्यनरत है लेकिन वहां आज तक स्कूल भवन निर्माण नहीं किया गया है और बच्चो को झोपड़ी में पढ़ाया जाता है आज 19 वर्ष हो चुके है| इसकी शिकायत गाँव के लोगो ने मिलकर जिला एवं ब्लॉक में भी किये थे लेकिन आज तक कोई सुनवाई नहीं हुई इसलिए सीजीनेट के साथियों से मदद की अपील कर रहे है, कलेक्टर@07762222103, SDM@07766266252, CEO@8120309000, शिक्षा अधिकारी@7415564836, जीतनराम@8959289653

Posted on: Feb 24, 2017. Tags: JITANRAM PAHADI KORWA

आपका स्वास्थ्य आपके मोबाइल में : तिराय गोड़ी, आदिवासी चाय पत्ती के औषधीय गुण

ग्राम बरघाट, ग्राम पंचायत कुमरता, तहसील धरमजयगढ़, जिला रायगढ़ छत्तीसगढ़ से जीतन राम पहाड़ी कोरवा उनके इलाके के जंगलों में पाया जाने वाला तिराय गोड़ी पौधे के बारे में बता रहे है वे कहते हैं कि इसकी छाल को चायपत्ती के रूप में इस्तेमाल कर सकते है | जिस प्रकार चायपत्ती को उबालते हैं उसी प्रकार इसे भी उबाला जाता है और स्थानीय आदिवासी इस चाय को चाव से पीते है | वे बता रहे हैं कि यह चाय शरीर के लिए भी बहुत लाभ दायक है और शरीर में खून की कमी को पूरा करता है और साथ ही गर्मी के दिनों में निकलने वाले पसीने पर भी रोक लगता है | इस विषय पर अधिक जानकारी के लिए जीतनराम पहाड़ी कोरवा से 8959289653 पर संपर्क कर सकते हैं ।

Posted on: Nov 29, 2016. Tags: JITANRAM PAHADI KORWA

अन्य जिलों की तरह रायगढ़ जिले में पहाड़ी कोरवा समुदाय को पीटीजी का दर्जा नहीं दिया गया है...

ग्राम सलखेता, पोस्ट कुमर्ता, विकासखंड धरमजयगढ़, जिला रायगढ़ (छत्तीसगढ़) से जीतनराम पहाड़ी कोरवा बोल रहे हैं कि विकासखंड धरमजयगढ़ में 21 गाँव बसा हैं जहाँ पहाड़ी कोरवा जनजाति समुदाय रहते है पर जिन्हें उन सरकारी सुविधाओं का लाभ नही दे रहे है जो कि अन्य जिलो में बसे पहाड़ी कोरवा जनजाति समुदाय को मिल रहा है जैसे जशपुर, कोरबा, सरगुजा | इस जिले में पहाड़ी कोरवा को प्रिमिटिव ट्रायबल ग्रुप (पीटीजी) का दर्जा नहीं दिया गया है अत: इस समस्या का समाधान हेतु सीजीनेट स्वर सुनने वाले साथियों से मदद की अपील कर रहे हैं |जिला कलेक्टर @07662222123, मुख्य कार्यपालन अधिकारी@08120309000 S.D.M@07666266252 को कृपया फोन करें । जीतन@8959289653

Posted on: Nov 08, 2016. Tags: JITANRAM PAHADI KORWA

View Older Reports »

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »

Loading

Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download