बस्तर हिंसा और उसका समाधान पर चर्चा...

जिला-बस्तर (जगदलपुर) से बाबूलाल नेटी बस्तर में हो रही हिंसा के विषय पर दुर्ग निवासी कुंदन से वार्ता कर रहे हैं| कुंदन का पैत्रिक गाँव दल्ली राजरा है| उनका कहना है बस्तर में हो रही हिंसा से कई परिवार उजड़ गये हैं और आज भी ये हो रहा है| छत्तीसगढ़ को लेकर लोगो की मान्यता है कि ये राज्य हिंसा प्रभावित क्षेत्र है लोग यहाँ आने से डरते हैं, जबकी पूरे छत्तीसगढ़ में एसी स्थिती नहीं है, बस्तर के क्षेत्र हैं में ये स्थिती है और उसी के कारण पूरे छत्तीसगढ़ के बारे में लोगो ये धारणा है| इस विषय पर उनके साथी रमेश का कहना है कि इसे ठीक करने के लिये उनसे मिलकर बात कर ये जानने का प्रयास किया जाना चाहिये कि ये हिंसा किस लिये किया जा रहा है| क्या कारण है ? इसमे सरकार की भूमिका अनिवार्य है तभी ये ख़त्म हो सकता है|(AR)

Posted on: Sep 25, 2020. Tags: PEACE SURVEY HINDI

मेरे अनुसार से हिंसा को रोकने के लिए बातचीत करके सुलझाना चाहिए....

ग्राम छुलकारी, जिला-अनुपपुर (छत्तीसगढ़) से रतनलाल बस्तर मांगे हिंसा से आजादी जनमत सर्वेक्षण के सन्दर्भ पर अपनी विचार व्यक्त कर रहें हैं की जो छत्तीसगढ़ के जिला बस्तर में 40 वषों से जो हो रही हिंसा से हमे किसी विशेष मंच पर आकर विशेष बैठक करके इस हिंसा को कम करना चाहिए. धन्यवाद RK

Posted on: Sep 24, 2020. Tags: PEACE SURVEY HINDI 1

मध्य भारत की नई शांति प्रक्रिया में आपका स्वागत है...

इस सन्देश को हिंदी में सुनने के लिए 1 दबाइये, इसी सन्देश को गोंडी भाषा में सुनने के लिए 2 दबाइए और हल्बी में सुनने के लिए 3 दबाइए
आज से ठीक 40 साल पहले, 1980 के साल में, बारिश के बाद, लगभग इसी समय नक्सली आंदोलन के नेता, दण्डकारण्य के जंगलों में पहली बार आए थे | दण्डकारण्य का जंगल, जैसा आप जानते हैं आँध्रप्रदेश, तेलंगाना, छत्तीसगढ़, महाराष्ट्र, ओड़िशा और मध्यप्रदेश यानि इन 6 राज्यों में फैला हुआ है |
सरकारी आंकड़ों के अनुसार पिछले 20 सालों में ही माओवादियों और पुलिस के बीच चल रही इस हिंसा में 12 हज़ार से अधिक लोग मारे गए हैं इसमें 2700 पुलिसकर्मी थे और शेष 9300 आम नागरिक | गैर सरकारी अनुमान के अनुसार मृतकों की संख्या इससे काफी अधिक है क्योंकि जंगल के अंदर के इलाकों में हो रही हत्याओं की अक्सर रिपोर्टिंग नहीं होती
हम आपसे आपकी राय पूछना चाहते हैं कि लगातार 40 सालों से चल रही इस हिंसा से, जिससे आम नागरिक रोज़ाना परेशान हो रहे हैं और हज़ारों की संख्या में परिवार बर्बाद हो रहे हैं, उसे कैसे रोका जा सकता है?
यदि आप समझते हैं कि यह एक राजनैतिक समस्या है और इसका समाधान बातचीत करके निकालना चाहिए तो कृपया अपने फोन के की बोर्ड पर 1 दबाइए
यदि आपको लगता है कि इस समस्या को हिंसा यानि पुलिस और मिलिट्री की मदद से ही हल किया जाना चाहिए तो कृपया 2 दबाए
यदि आप इस समस्या को कैसे हल किया जाए इस पर अपनी बात विस्तार से रखना चाहते हैं तो कृपया 3 दबाकर अपना सन्देश रिकार्ड कीजिए | 3 दबाने के बाद बीप की ध्वनि के बाद बोलना शुरू कीजिए और आपको अपनी बात 3 मिनट में पूरी करनी है
सन्देश के पहले अपना नाम और पता ज़रूर बताइए

आपका सन्देश रिकॉर्ड करने के बाद उसे कन्फर्म करने के लिए फिर से 1 दबाइए

आपका सन्देश रिकॉर्ड हो गया है
यदि आपसे कोई भूल हुई है या आप इस पूरे सन्देश को फिर से सुनना चाहते हैं तो कृपया 0 दबाइये
इस जनमत सर्वेक्षण का परिणाम हम आपको अगले 2 अक्टूबर को होने वाली नई शान्ति प्रक्रिया की चुप्पी तोड़ो ई रैली के दौरान बताएंगे | आपका अमूल्य समय देने के लिए धन्यवाद |

Posted on: Sep 24, 2020. Tags: PEACE SURVEY HINDI 1

मिल जुल के दूर भगाईब देश हिंसा...गीत-

मालीघाट, मुज़फ्फरपुर (बिहार) से सुनील कुमार भोजपुरी भषा में एक गीत सुना रहे हैं:
देशवा से दूर करब हो-
नक्सली हिंसा का चाहे करब फुट जाय-
य है समय के पुकार कर करब पड़ जाये-
मध्य भारत के शांति पप्रकृया में-
सब के स्वागत होई जनमत सर्वेक्षण में-
मिल जुल के दूर भगाईब देश हिंसा...(AR)

Posted on: Sep 23, 2020. Tags: HINDI SONG

लिख दे यीशु तोर नाम के...गीत-

ग्राम पंचायत-कर्रा, जिला-बलरामपुर (छत्तीसगढ़) से संध्या खलखो एक गीत सुना रही हैं:
लिख दे यीशु तोर नाम के-
मंदिर मोर आत्मा में-
रखबो तोके दिल में जो गाय के-
रखबो तोके मन में बसाय के-
तोहे तो मोर सहारा रे-
तोहे तो मोर रखवाला रे... (AR)

Posted on: Sep 23, 2020. Tags: HINDI SONG

View Older Reports »