श्री गुरु चरण सरोज रज, निज मन मुकुल सुधार...आरती गीत-

ग्राम-नवगोई, थाना-चांदनी बिहारपुर, तहसील-ओडगी, जिला-सूरजपुर (छत्तीसगढ़) से बृजभान जायसवाल एक आरती गीत सुना रहे हैं :
श्री गुरु चरण सरोज रज, निज मन मुकुल सुधार-
बरनऊ रघुवर विमल जस, जो दायक फल चार-
बुद्धहीन तनु जान के सुमिरौ पवन कुमार-
बल बुद्धि विद्या देहि मोहि हरहूँ कलेस विकार-
भक्त-भक्त भगवंत गुरु, चारू नाम वपुरी-
जिनकर पद बंधन करए, आश ही देतै नीत...

Posted on: Aug 01, 2018. Tags: BRIJBHAN JAYASAWAL