कंकर चुनि चुनि महल उठायो : एक निर्गुण गीत

कंकर चुनि चुनि महल उठायो
लुगवा कहत हे घर मेरो हो राम
ना घर तेरा ना घर मेरा
इ घर रैनबसेरा हो राम

बपई कहत है सग बेटा मेरा है
मैया कहत है लाल मेरो हो राम
ना हम बपई के, ना हम मइया के
पखिया जनम लेते ना हो राम

भैया कहत है सग भाई मेरा है
बहिना कहत है बिरन मेरा हो राम
ना हम भैया के, ना हम बहिना के
साथवा जनम लेते नाता हो राम

उषा देवी

Posted on: Nov 10, 2010. Tags: Ajit Bahadur