5.6.31 Welcome to CGNet Swara

चिड़िया होती है बेटियां, मगर पंख नही होती बेटियों की...कविता-

बिंद्रापाल, जिला-दक्षिण बस्तर सुकमा (छत्तीसगढ़) से रोशनी उईके माता रुकमणि उच्चतर माध्यमिक विद्यालय बिंद्रापाल की छात्रा हैं, वे बेटियों पर एक कविता सुना रही हैं :
चिड़िया होती है बेटियां, मगर पंख नही होती बेटियों की-
माईका भी होता है, ससुराल भी होता है-
मगर घर नही होती बेटियों की-
माईका कहता है ये बेटी तो पराए घर जाने वाली है-
ससुराल कहता है कि ये बेटी तो पराए घर से आई है-
ऐ खुदा तो ही बता ये बेटियां किस घर के लिए बनी हुई है...

Posted on: Oct 11, 2018. Tags: CG DAUGHATER GEETA TEKAM SONG SUKMA

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »


Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download


From our supporters »